कुलभूषण जाधव को क्यों काउंसलर एक्सेस नहीं दे रहा है पाकिस्तान?

पाकिस्तान में फांसी की सजा पाने वाले भारतीय कुलभूषण जाधव तक पहुंचने की भारतीय कोशिश लगातार 14वीं बार नाकाम होती दिख रही है, क्योंकि पाकिस्तान सेना ने कुलभूषण जाधव का काउंसलर एक्सेस देने से इनकार कर दिया है. पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने इस पर कहा है कि जाधव के मसले पर कोई समझौता नहीं हो सकता. कुलभूषण पाक विरोधी गतिविधियों में शामिल था, इसलिए हम जाधव तक राजनयिक पहुंच नहीं दे सकते. इधर दिल्ली में भारतीय अधिकारियों ने अभी तक ऐसी किसी भी आधिकारिक जानकारी मिलने से इनकार किया है.

पाक सरकार ने भारत को इस पर जानकारी नहीं दी है, लेकिन पाक सेना के जवाब से साफ है कि सरकार का रुख इससे अलग नहीं होगा. पाक सेना ने भारत के इस दावे को खारिज किया कि जाधव की कानूनी ज़रूरतों को पूरा नहीं किया गया. भारत ने कड़े शब्दों में साफ किया है कि अगर फांसी की सज़ा दी जाती है तो ये पाकिस्तान द्वारा पूर्व नियोजित हत्या होगी. भारत-पाक संबंधों को इससे गहरा नुकसान पहुंचेगा.

इस पर कांग्रेस के नेता संदीप दीक्षित ने कहा कि आपने उसे फांसी की सजा दी है. इसमें भी लोग अपने रिश्तेदारों से मिलते हैं. ऐसी गुंडागर्दी नहीं चलनी चाहिए. जादव को न्याय दिलाना चाहिए.

इस पर बीजेपी नेता नलिन कोहली ने कहा कि क्या पाकिस्तान वियना कंवेंशन का सेक्रेट्री नहीं है? क्या कोई मानवाधिकार नहीं है. कुलभूषण जाधव का काउंसेलर एक्सेस किस आधार पर मना किया जा रहा है. क्या कहीं पाकिस्तान घबरा तो नहीं रहा है.

कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जाधव को काउंसलर एक्सेस और अपील करने की इजाजत न दिया जाने के पीछे सच यह है कि यह पाकिस्तान सेना और सरकार मिलकर हत्या की कोशिश में हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *