चुनाव आयोग में मुलायम सिंह यादव ने ठोका अपना दावा

सपा में पार्टी के चुनावी चिन्‍ह ‘साइकिल’ को लेकर चल रही जंग आज चुनाव आयोग के सामने पहुंच चुकी है, ये जंग जहां मुलायम सिंह यादव आज चुनाव आयोग पहुंचे हैं और वह चुनाव चिह्न ‘साइकिल’ के लिए अपने दावे के दस्तावेज पेश कर रहे हैं.

वहीं दूसरी तरफ अखिलेश यादव भी आज दिल्ली आ रहे हैं. वे भी दोपहर 2.30 बजे चुनाव आयोग जाएंगे. बात दें, इससे पहले अखिलेश खेमे की ओर से शनिवार को करीब 90 फीसदी विधायकों, सांसदों और प्रतिनिधियों के समर्थन का एफिडेविट 6 बक्सों में चुनाव आयोग को सौंपा जा चुका हैं.

समाजवादी पार्टी में आंतरिक घमासान जारी है. रविवार शाम मुलायम सिंह यादव की ओर से अचानक बुलाई गई प्रेस कॉन्फ्रेंस से लगा था कि कुछ नया होने वाला है, लेकिन सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव ने कहा, मैं ही समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष हूं और शिवपाल यादव यूपी के प्रदेश अध्यक्ष हैं, अखिलेश यादव मुख्यमंत्री हैं. दिल्ली में अपने आवास पर पत्रकारों से बात करते हुए मुलायम सिंह यादव ने ये साफ कर दिया कि उनका रुख अखिलेश गुट और खासतौर पर रामगोपाल यादव को लेकर नरम नहीं हुआ है.

मुलायम ने कहा कि रामगोपाल यादव जब समाजवादी पार्टी से निष्कासित थे तो उनकी पहल पर बुलाया गया अधिवेशन भी फर्जी एवं अवैध है. उन्होंने कहा कि रामगोपाल यादव को पिछले साल 30 दिसंबर को पार्टी से निकाल दिया गया था, इसलिए उनके द्वारा 1 जनवरी को बुलाया गया राष्ट्रीय सम्मेलन, जिसमें अखिलेश को पार्टी प्रमुख बनाया गया, वह अवैध था.

रामगोपाल यादव ने सपा के दोनों खेमों के बीच किसी सुलह की संभावना से भी इनकार कर दिया है और कहा कि चार-छह लोगों ने नेताजी को गुमराह करने का प्रयास किया है, कि उन्हें 200 विधायकों का समर्थन हासिल है, बैठक से पहले मुलायम ने कुछ कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. इस दौरान मुलायम सिंह के साथ अमर सिंह भी मौज़ूद थे. गौरतलब है कि चुनाव चिन्ह को लेकर मुलायम सिंह यादव सोमवार को चुनाव आयोग से मिलने वाले  है.

Read this also: रामगोपाल यादव ने चुनाव आयोग में किया सपा के सिंबल पर दावा, सौंपे दस्तावेज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *