राजनीतिक चंदे में पारदर्शिता लाना देश हित मे जरुरी : पीएम मोदी

बीजेपी राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दो दिन चली,बैठक के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के बारे में बोलते हुए कहा कि बीजेपी इन राज्यों में जीत हासिल करने जा रही है, लेकिन इसके लिए बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं को फोकस करना होगा. साथ ही उन्होंने ये भी हिदायत दी कि नेता अपने रिश्तेदारों के लिए टिकट न मांगें. उन्होंने ये भी कहा कि बीजेपी चुनावी चंदे में पारदर्शिता के समर्थन में हैं.

पीएम मोदी के भाषण में ज्यादा ध्यान गरीब कल्याण के मुद्दे पर रहा. प्रधानमंत्री ने कहा कि एनडीए की सरकार बनते ही उन्होंने ये ऐलान किया था कि यह सरकार गरीबों की भलाई के लिए आई है. पीएम ने कहा, कि विपक्ष ने सिर्फ वादे किए, हमने ठोस काम किया और ये हमारी उपलब्धि है.

प्रधानमंत्री ने नोटबंदी पर भी अपनी बात रखी, उन्होंने कहा, कि नोटबंदी से गरीबों को बहुत लाभ हुआ है. सरकार की सारी योजनाओं का सीधा लाभ गरीबों को मिला है और आगे भी सरकार गरीबों के हित के लिए कदम उठाएगी. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हमें गरीबों को वोट बैंक की नज़र से नहीं देखना चाहिए. गरीबी हमारे लिए सेवा करने का अवसर है. गरीब की सेवा ईश्वर की सेवा है.

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ये भी बताया, कि प्रधानमंत्री ने कहा उन्होंने गरीबी देखी है वह खुद एक गरीब परिवार से आते हैं और इसलिए उनकी सरकार गरीबों तथा वंचित तबकों के लिए काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है.' प्रधानमंत्री ने पार्टी के कार्यकर्ताओं से विपक्ष के नोटबंदी के खिलाफ लगातार चल रहे दुष्प्रचार अभियानों तथा आरोपों से हतोत्साहित न होने की अपील की. उन्होंने कहा, कि आलोचनाओं का स्वागत करना चाहिए. प्रसाद ने कहा, 'प्रधानमंत्री ने बैठक में जिस सबसे अहम मुद्दे पर बात की, वह है राजनीतिक प्रक्रिया में पारदर्शिता का. पीएम ने कहा, कि राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाले चंदे में भी पारदर्शिता लाने की आवश्यकता है. 'प्रधानमंत्री ने राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे की सीमा पर बात की और कहा, कि राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे में पारदर्शिता लाने में भाजपा सक्रिय भूमिका अदा करेगी. यह देश हित में एक महत्वपूर्ण कदम है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *