अत्याधुनिक सुविधाओं से लैंस तेजस एक्सप्रेस को सुरेश प्रभु आज दिखाएंगे हरी झंडी , पढ़े खास बातें

 

आज हाइटैक  तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) को हरी झंडी दी जानी है. सोमवार यानी आज एलईडी टीवी, वाईफाई, सीसीटीवी जैसी अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस ट्रेन को रेल मंत्री सुरेश प्रभु मुंबई से हरी झंडी दिखाकर गोवा के लिए रवाना करेंगे . जिस प्रकार की स्पीड और सुविधाएं यह ट्रेन दे रही है, वो बेहद खास हैं, लेकिन बात अगर इसके किराये की करें तो इसका किराया शताब्दी ट्रेन से भी 20 गुना अधिक है.इस ट्रेन में इंफोटेनमेंट, wi-fi, आग और स्मोकिंग का पता लगाने की सुविधा, चाय-कॉफी के लिए वेंडिंग मशीन जैसी कई आदि अत्याधुनिक सुविधाएं भी उपलब्ध हैं.

मध्य रेलवे के महाप्रबंधक डी के शर्मा के अनुसार, भारतीय रेलवे के लिए सोमवार का दिन एक ऐतिहासिक दिन है तेजस एक्सप्रेस को पहली बार मुंबई से अपनी पहली यात्रा पर रवाना किया जाएगा.

 

 

 

तेजस एक्सप्रेस में ये होंगी सुविधाएं...

 

-स्वचालित दरवाजे केवल मेट्रो में ही हैं लेकिन अब इस ट्रेन में भी होंगे.

 

 

 

 

-मुंबई-गोवा मार्ग पर शुरू होने के बाद यह ट्रेन सेवा दिल्ली-चंडीगढ़ मार्ग पर भी शुरू की जा सकती है.

 

 

 ट्रेन में 56 लोगों के बैठने की क्षमता के साथ एक एग्जीक्यूटिव एसी चेयर कार होगी और प्रत्येक बोगी में 78 सीट क्षमता के साथ 12 एसी चेयर कार होंगी.

 

 

-इस ट्रेन में यात्रियों को यात्रा के दौरान खाना ऑर्डर करने का विकल्प मिलेगा. तेजस एक्सप्रेस की एग्जीक्यूटिव श्रेणी का किराया भोजन के साथ 2,680 रुपये होगा.

 

 

- ट्रेन के किराये की जानकारी देते हुए मध्य रेलवे के मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक शैलेंद्र कुमार के मुताबिक, यदि आप भोजन नहीं लेना चाहते हैं तो किराया के 2,525 रुपये होगा.

 

 

- एसी चेयर कार का किराया भोजन के साथ 1,280 रुपये और बगैर भोजन के 1,155 रुपये तय किया गया है.

 

 

- चूंकि ट्रेन बेहतर सुविधाओं से लैस है, लिहाजा सामान्य मेल या एक्सप्रेस सेवा की तुलना में इसका किराया भी थोड़ा ज्यादा रखा गया है. तेजस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस से 20 फीसदी ज्यादा रहेगा.

 

 

-कपूरथला के रेल कोच कारखाने में इस ट्रेन के डिब्बे बनाए गए हैं. इस ट्रेन में 19 डिब्बे हैं.

 

 

 ट्रेन में बायो वैक्यूम शौचालयों, टॉयलेट इंगेजमेंट बोर्ड, हैंड ड्रायर की सुविधा भी होगी.

 

 

- मनोरंजन के उद्देश्य से लगायी जाने वाली एलसीडी स्क्रीन का इस्तेमाल यात्रियों से संबंधित सूचना एवं सुरक्षा निर्देशों के प्रसार के लिए भी किया जाएगा.

 

 

कैसा होगा तेजस एक्सप्रेस का रूट...

 

 

 

 

यह ट्रेन कोंकण बेल्ट के सघन हरियाली वाले क्षेत्र से गुजरेगी जिससे समुद्र के किनारे, पर्वतों और घाटियों का मनमोहक दृश्य देखने को मिलेगा जिससे आप अपनी यात्रा का आनंद उठाएंगे न कि सिर्फ गंतव्य यानी गोवा स्थान तक पहुंचेंगे. हालांकि कुछ बदमाशों ने ट्रेन के संचालन से पहले ही इसकी खिड़कियों को तोड़फोड़ दिया है,लेकिन अधिकारियों का कहना है कि हमने इस पर संज्ञान लिया है और अब यह कोई मुद्दा नहीं है.

 

 

 

(विभिन्न एजेंसियों से इनपुट)

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *