Tag Archives: Bharat

Mumbai: Esha Deol, currently pregnant with her first child, instagrammed a heart-warming black-and-white picture, in which she posed with her father Dharmendra. "One Love! One Heart," she captioned the picture, which received over 9,000 likes in six hours. In the picture, Dharmendra gave Esha a one-armed hug and Esha in turn caressed her baby bump. Both Dharmendra and Esha had identical ear-to-ear smiles on their faces. Esha Deol, who is the eldest of Dharmendra and Hema Malini's two daughters, is married to Bharat Taktani and this is the couple's first child together. Take a look at Esha Deol's fabulous picture here:

 

ONE LOVE! ONE HEART! ❤️ @aapkadharam

A post shared by Esha Deol (@imeshadeol) on

 

A few days back, Esha went out for dinner with her in-laws and shared this picture:

 

Esha Deol chronicled the last few months of her pregnancy and the pictures are exceptionally dreamy filled with vacations, outings and two baby showers. Esha's first baby shower, which was as per Sindhi tradition, was held in August. In the first baby shower, Esha and Bharat took four pheras, which are part of the godh bharai ceremony. For the occasion, Esha wore a red outfit designed by Neeta Lulla.

Esha and Ahana are Dharmendra and Hema Malini's two daughters. Actors Sunny and Bobby Deol (born to Dharmendra and Parkash Kaur) are Esha and Ahana's half-siblings. Esha and Ahana also have two half-sisters Vijeeta and Ajeeta Kaur.

Esha Deol debuted in Bollywood in 2002 film Koi Mere Dil Se Poochhe and featured in films such as Kucch To HaiKaalNo Entry and Darling. her last Hindi film was Kill Them Young, which released in 2015. Esha Deol also hosted reality show Roadies X2 in 2015. 

 

 

 

 

For latest news on dailyaddaa, like us on Facebook and follow us on Twitter.

 

 

New Delhi: Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) chief Mohan Bhagwat on Tuesday emphasised on country's unity and a distinct nationality among diversity of languages and communities.

He said India does not believe in "one language-one nation, one community-one nation". Quoting Sister Nivedita, he said: "Reconstitution of a nation has to begin with its ideals."

 

According to him, when the Ramayana serial was telecast, every household used to watch it and the same also happened in Pakistan when the serial was telecast there.

"This is because this land since the early ages through its experience created a consciousness," he said at a programme organised to commemorate the 150th birth anniversary of Sister Nivedita.

"There is no need to fight," Bhagwat said, adding that people of different languages, ethnicities and religions were respected and recognised in India

He called Bharat Mata "the base of the unity".

Being a geographically distinct nation, India had the capability of giving birth to nationality and the country considered the world as its relative, he said, adding that "despite people wanting to be our foes, we (India) do not have enemies".

Dwelling on why he opposed the Sachar Committee recommendations, Bhagwat said one of his Muslim friends appreciated the Hindu lineage of Indian Muslims, but the community he represented largely did not believe that.

"Over the years there has been so many outside influences in Bharat and we assimilated all, we digested all. It is true. So many rivers have flowed into Ganga, but Ganga remained Ganga. I told him once they educate themselves and understand the fact, we are ready to withdraw our opposition."

"Once Rabindranath Tagore said that these two communities will not die while fighting with each other but they will find a way to stay together...that will be the Hindu way," Bhagwat said.

 

 

 

 

For latest news on dailyaddaa, like us on Facebook and follow us on Twitter.

 

 

New Rs. 200 notes will be launched tomorrow, the Reserve Bank of India (RBI) announced today in a press release days after introducing new fluorescent blue Rs. 50 banknotes. This is the fourth new note to be announced since November, when Prime Minister Narendra Modi announced an overnight ban on Rs. 1,000 and Rs. 500 notes, wiping out over 85 per cent of the cash in circulation.

Here are some features of the new Rs. 200 note:

 

1. The banknotes are of the size 66 mm x 146 mm

 

2. The new notes have a motif of the Sanchi Stupa monument, depicting India's cultural heritage, besides the Ashoka Pillar emblem.

 

3. The base colour of the note is bright yellow.

 

4. The notes have a portrait of Mahatma Gandhi in the centre with Rs. 200 inscribed on the note in colour-changing ink. 

 

5. There is a security thread with inscriptions 'Bharat' and RBI. The colour of the thread changes from green to blue when the note is tilted.

 

6. For the visually-impaired, the Mahatma Gandhi portrait and Ashoka Pillar emblem are raised, besides other special features.

 

7. The new notes also have a logo of Swachh Bharat or Prime Minister Narendra Modi's "Clean India" campaign.

 

8. For the first time in history was cleared by the Finance Ministry the plan for Rs. 200 notes; the design has reportedly been approved by the Prime Minister's Office.

 

9. This is the fourth new note to be announced since November, when Prime Minister Narendra Modi announced an overnight ban on Rs. 1,000 and Rs. 500 notes to choke tax evaders.

 

10. New Rs. 2,000 and Rs. 500 notes were introduced to ease the cash crunch faced by millions across the country.

 

 

 

 

For latest news on dailyaddaa, like us on Facebook and follow us on Twitter.

 

 

 

Actress Esha Deol is all set to steal the spotlight at her baby shower today. Ahead of the ceremony, the 35-year-old actress Instagrammed a picture of herself, in which she can be seen getting ready to join the celebrations. "Getting ready for the Godh bharai ceremony! Hair done make up done," she captioned. Esha Deol and her businessman husband Bharat Takhtani have hand-picked their outfits of the day from the studios of celebrated designer Neeta Lulla. Preparations for the festivities are on in full force because the duo are not only celebrating a baby shower, they will also reportedly have a second 'wedding' at the ceremony.

 

This is what Esha shared on Thursday morning:

 

Getting ready for the Godh bharai ceremony ! Hair done make up done ✅😊 #GodhBharai

A post shared by Esha Deol (@imeshadeol) on

 

Before more pictures from the much-awaited baby shower are shared, here's a rough sketch of how Esha will be dressed today - it'll be a rani and pink ensemble.

 

Godh bharai fittings with the one n only @neeta_lulla ❤ #IndianOutfit #TraditionalGodhBharai #RaniPink #Red

A post shared by Esha Deol (@imeshadeol) on

 

Esha and Bharat, who married in 2012, are expecting their first child together. The couple will take three pheras instead of seven at their second wedding, stated a report in Pune Mirror. Talking to Pune Mirror, Esha said that the Deols had arranged for a Tamilian priest for their wedding but this time, the plans are slightly different: "This time it's a Sindhi priest who speaks Hindi too, so my in-laws will at least understand what is being said," she said.

 

Esha, daughter of veteran Bollywood stars Dharmendra and Hema Malini, also told Pune Mirror that the five years of her life which she has been married for, have been "beautiful": "Over the last five years, Bharat and I have become as thick as thieves. Since I'm pregnant, I'm prone to mood swings now but he's tolerated them and is extremely protective. He's also my best critic, encouraging me in everything I do. At the risk of sounding filmi, I'll say I wouldn't want to change anything, life's beautiful."

 

Esha Deol, who made her Bollywood debut with 2002's Koi Mere Dil Se Poochhe, is best known for starring in films like Dus, Dhoom and Yuva.

 

 

 

 

 

For latest news on dailyaddaa, like us on Facebook and follow us on Twitter.

 

 

 

इसरो ने साउथ एशिया सैटेलाइट लॉन्‍च कर दिया हैं, साउथ एशिया सैटेलाइट, PM मोदी का 6 देशों को बड़ा तोहफा के रुप मे देखा जा रहा हैं,  इससे देशों के बीच संपर्क को बढ़ावा मिलेगा. इस भूस्थिर संचार उपग्रह का निर्माण भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने किया है. इसका प्रक्षेपण श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से किया गया. जीसैट-9 को भारत की ओर से उसके दक्षिण एशियाई पड़ोसी देशों के लिए उपहार माना जा रहा है. इस उपग्रह को इसरो का रॉकेट जीएसएलवी..एफ09 लेकर गया.

शाम में 4 बजकर 57 मिनट पर प्रक्षेपण किया गया. जीसैट को लेकर जाने वाले जीएसएलवी-एफ09 का प्रक्षेपण यहां से करीब 135 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिच केंद्र के दूसरे लांचिंग पैड से हुआ.

8 दक्षेस देशों में से 7 भारत, श्रीलंका, भूटान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और मालदीव परियोजना का हिस्सा हैं. पाकिस्तान ने यह कहते हुए इससे बाहर रहने का फैसला किया कि ‘उसका अपना अंतरिक्ष कार्यक्रम है.’ इस उपग्रह की लागत करीब 235 करोड़ रुपये है और इसका उद्देश्य दक्षिण एशिया क्षेत्र के देशों को संचार और आपदा सहयोग मुहैया कराना है. इसका मिशन जीवनकाल 12 साल का है.

मई 2014 में सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों से दक्षेस उपग्रह बनाने के लिए कहा था वह पड़ोसी देशों को ‘भारत की ओर से उपहार’ होगा. गत रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में मोदी ने घोषणा की थी कि दक्षिण एशिया उपग्रह अपने पड़ोसी देशों को भारत की ओर से ‘कीमती उपहार’ होगा.

पीएम मोदी ने कहा था, 5 मई को भारत दक्षिण एशिया उपग्रह का प्रक्षेपण करेगा. इस परियोजना में भाग लेने वाले देशों की विकासात्मक जरूरतों को पूरा करने में इस उपग्रह के फायदे लंबा रास्ता तय करेंगे. भविष्य के प्रक्षेपणों के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने कहा कि इसरो जीएसएलवी एमके 3 के बाद पीएसएलवी का प्रक्षेपण करेगा. उन्होंने कहा कि इसरो अगले साल की शुरुआत में चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण करेगा. इससे पहले संचार उपग्रह जीएसएटी-8 का प्रक्षेपण 21 मई 2011 को फ्रेंच गुएना के कोउरो से हुआ था.

प्रक्षेपण की सफलता की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट किया, ‘दक्षिण एशियाई उपग्रह का सफल प्रक्षेपण ऐतिहासिक क्षण है. इससे समझौते के नये आयाम खुलेंगे. इससे दक्षिण एशिया और हमारे क्षेत्र को काफी लाभ मिलेगा.’

इस प्रोजेक्ट से जुड़ी खास बातें

1.इस मिशन में अफगानिस्तान, भूटान, नेपाल, बांग्लादेश, मालदीव और श्रीलंका शामिल हैं.

2.इससे दक्षिण एशिया के देशों को कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी का फायदा मिलेगा. प्राकृतिक आपदाओं के दौरान कम्युनिकेशन में मददगार होगा

3. इस सैटेलाइट का नाम पहले सार्क रखा गया लेकिन पाकिस्तान के बाहर होने के बाद इसका नाम साउथ ईस्ट सैटेलाइट कर दिया गया. पाकिस्तान ने यह कहते हुए इससे बाहर रहने का फैसला किया कि उसका अपना अंतरिक्ष कार्यक्रम है.

4.मई 2014 में सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों से दक्षेस उपग्रह बनाने के लिए कहा था वह पड़ोसी देशों को ‘भारत की ओर से उपहार’

5. इस उपग्रह की लागत करीब 235 करोड़ रुपये है और इसका उद्देश्य दक्षिण एशिया क्षेत्र के देशों को संचार और आपदा सहयोग मुहैया कराना है. इसका मिशन जीवनकाल 12 साल का है. इसरो अगले साल की शुरुआत में चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण करेगा

हिंदी प्रेमियों के लिए यह अच्छी ख़बर हो सकती है कि इंटरनेट की दुनिया में हिंदी भाषियों का वर्चस्व लगातार बढ़ रहा है और इस आभासी दुनिया में हिंदी वाले इसी तरह अपनी पैठ बनाते रहे तो जल्द ही ये अंग्रेजी को काफी पीछे छोड़ जाएंगे.

वर्ष 2021 तक 53.6 करोड़ लोगों के ऑनलाइन रहने के समय अपनी क्षेत्रीय भाषाओं का इस्तेमाल करने की संभावना है. उसका श्रेय मोबाइल फोनों एवं डाटा पैक के घटते दाम तथा और स्थानीय सामग्री की उपलब्धता को जाएगा. यह बात गुगल- केपीएमजी की रिपोर्ट में आई है.

रिपोर्ट के अनुसार हिंदी इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या 2021 तक अंग्रेजी वालों से बहुत आगे निकल जाएगी और यह संख्या 19.9 करोड़ तक पहुंच जाएगी. उम्मीद की जा रही है कि उस समय तक भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की तादाद 73.5 करोड़ हो जाएंगी. उनकी संख्या 2016 में 40.9 करोड़ थी.

रोचक बात यह है कि भारतीय भाषाओं में इंटरनेट का उपयोग करने वालों में बड़ी संख्या में लोग पहले से ही सरकारी सेवाओं, क्लासीफाइड और खबरों का लाभ उठा रहे हैं तथा भुगतान भी वे ऑनलाइन ही करते हैं. ऐस लोग न केवल चैट ऐप और डिजिटल मनोरंजन का लाभ उठा रहे हैं बल्कि वे डिजिटल भुगतान तरीके भी अपना रहे हैं. वर्ष 2016 में भारतीय भाषाओं में इंटरनेट का उपयोग करने वालों की संख्या 23.4 करोड़ थी जबकि अंग्रेजी में इसका उपयोग करने वालों की संख्या 17.7 करोड़ थी. हिंदी के अलावा मराठी, बंगाली, तमिल, कन्नड़ और तेलुगु उपयोगकर्ताओं की संख्या तेजी बढ़ने की संभावना है.

तीन दिन की भारी बर्फबारी की वजह से भारत मे जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के  हिस्सो मे अलर्ट जारी किया गया है, भारी बर्फबारी के चलते हिमस्खलन की वजह से अफगानिस्तान मे एक ही गांव मे 100 से अधिक लोगों की मौत की खबर हैं. खबर ये भी है कि मरने वालो की संख्या बढ़ भी सकती है,बात अगर पाकिस्तान की करॆ तो वहां भी हिमस्खलन की वजह से 14 लोगों के मारे जाने की खबर है

अफगानी अधिकारियों के मुताबिक  हिमस्खलन तीन दिन की भारी बर्फबारी की वजह से हुआ है और जिसके कारण खासतौर पर मध्य और पूर्वोत्तर प्रांतों में सैकड़ों मकान धराशायी हो गए हैं और सड़कें अवरुद्ध हो गई है. जिससे बचाव दल को हिमस्खलन का शिकार हुए गांवों तक पहुंचने में अवरोधो का सामना करना पड रहा है

प्राकृतिक आपदा मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार सबसे ज्यादा क्षति दूरदराज के नूरिस्तान प्रांत में हुई है, यहां एक ही गांव में 50 लोगों की मौत की खबर है. हिमस्खलन की वजह से बार्गमटल जिले का दो गांव पूरी तरफ से दफन हो गए हैं.