Tag Archives: अमेजॉन

भारत की ई-कॉमर्स वेबसाइट स्‍नैपडील अपने करीबन 600 कर्मचारियों की छटनी करने वाली है. साथ ही कंपनी के फाउंडर्स की भी सैलरी कम करने वाली है. स्‍नैपडील को लगातार फ्लिपकार्ट और अमेजॉन से कड़ी टक्कर मिल रही है.

ई-कॉमर्स वेबसाइट स्‍नैपडील के सीईओ कुनाल बहल ने कहा है, कि कंपनी ने पहले कुछ गलतियां की हैं, जिस की वजह से यह कड़ा फैसला लेना पड़ रहा है. कंपनी को एक बार फिर से फायदे में लाने के लिए ऐसा करने की ज़रूरत पड़ रही है.

कंपनी के सीईओ ने अपने सभी कर्मचारियों को एक ईमेल भेजा है, जिसमें लिखा है, कि ‘हम कंपनी की ग्रोथ पर ध्यान केंद्रित करने के लिए बाकि दूसरे प्रोजेक्ट जो मुख्य नहीं हैं, उन्हें खत्म कर रहे हैं. इसी वजह से हम टीम जोड़ रहे हैं और लेयर्स कम कर रहे हैं’. साथ ही उस ईमेल में लिखा है, कि ‘इस प्रक्रिया में हमें बड़े दुख के साथ अपने कुछ सहकर्मियों को अलविदा कहते हैं. इन्हें गुडबाय कहना बहुत दर्द भरा है’.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, स्‍नैपडील और इसकी लॉजिस्टिक्स बिजनेस वॉल्कन एक्सप्रेस, डिजिटल पेमेंट यूनिट फ्रीचार्ज से करीबन 600 लोगों को निकाला जा रहा है.

कुनाल बहल का यह भी कहना है, कि स्‍नैपडील के को-फाउंडर रोहित बंसल भी अपनी सैलरी कम कर रहे हैं, ताकि कंपनी को एक बार फिर ट्रैक पर ला सकें.

अमेजॉन कनाडा द्वारा डोरमैट पर भारतीय ध्वज की तस्वीर लगाए जाने के विवाद के बाद अब एक बार फिर से इस  कंपनी ने भारतीयों की भावनाओं का अपमान किया है इस बार कंपनी की अमेरिकी साइट पर गांधी की तस्वीर वाली चप्पलें बेचे जाने की शिकायत सामने आई है.

तिरंगे की तस्वीर वाले डोरमैट से जुड़े घटनाक्रम के बाद, विदेश मंत्री को अब अमेजॉन पर महात्मा गांधी की तस्वीर वाले चप्पल बेचे जाने की कई शिकायतें मिली है. ट्विटर यूजर्स ने सुषमा को अपने ट्वीट में टैग कर शिकायत की है कि गांधी की फोटो वाले 'बीच सैंडल' की बिक्री कंपनी की अमेरिकी साइट पर हो रही है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने मुद्दे पर बात किए बिना कहा, "अमेजॉन पर तिरंगा वाले डोरमैट की बिक्री संबंधी मुद्दे पर वाशिंगटन में हमारे दूत को अमेजॉन को निर्देश देने को कहा गया कि थर्ड पार्टी को प्लेटफार्म प्रदान करते वक्त उन्हें भारतीयों की संवेदनाएं और भावनाओं का सम्मान करना चाहिए

आपको बता दें कि बीते गुरुवार को ही कनाडा के मेजान में पायदान पर भारतीय ध्वज की तस्वीर लगाए जाने पर भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सख्त ऐतराज जताया था. ट्विटर पर उन्होंने अपने गुस्से का इजहार करते हुए कहा था कि अमेजॉन तुरंत मांफी मांगे. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं करने पर अमेजॉन अधिकारियों का वीज़ा रद्द कर दिया जाएगा, कड़ी चेतावनी के बाद अमेज़ॉन ने भारतीय ध्वज की तस्वीर वाले पायदानों को अपनी वेबसाइट से हटा लिया था.

भारत की विदेशमंत्री सुषमा स्वराज की कड़ी चेतावनी के बाद अमेज़ॉन ने भारतीय ध्वज की तस्वीर वाले पायदानों को अपनी वेबसाइट से हटा दिया है. ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेज़ॉन के प्रवक्ता ने जानकारी दी है कि 'वेबसाइट पर यह आयटम अब बिक्री के लिए उपलब्ध नहीं है

आपको बता दें कनाडा के मेजान में पायदान पर भारतीय ध्वज की तस्वीर लगाए जाने पर भारतीय विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने सख्त ऐतराज जताया है. ट्विटर पर उन्होंने अपने गुस्से का इजहार करते हुए कहा कि अमेजॉन से तुरंत मांफी मांगे. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं करने पर अमेजॉन अधिकारियों का वीज़ा रद्द कर दिया जाएगा.

सुषमा स्वराज ने लिखा, "अमेजॉन को बिना किसी शर्त माफी मांगनी चाहिए. उन्हें तत्काल कार्यवाही करते हुए बाजार से ऐसे सभी उत्पादों को वापस ले लेना चाहिए जो हमारे राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करते हैं. "सुषमा ने फिर एक ट्वीट कर कहा, "यदि ऐसा नहीं किया जाता तो हम अमेजॉन के अधिकारियों को भारत का वीज़ा नहीं देंगे. हम पूर्व में जारी किए सभी वीज़ा भी रद्द कर देंगे."

एक यूजर द्वारा इस मामले को विदेश मंत्री के ध्यान में लाया गया. उसने एक ट्वीट में लिखा, "मैडम सुषमा, अमेजॉन कनाडा के पायदान पर भारतीय ध्वज वाले उत्पादों को तत्काल जब्त करें और चेतावनी दें. कृपया इस मामले में कार्रवाई करें."

आपको बता दें कि अमेजॉन एक मार्केट प्लेस है और वह सीधे इन उत्पादों की बिक्री नहीं करती इसे तीसरे पक्ष द्वारा लिस्ट कराया जाता है. विदेश मंत्री  ने भारतीय उच्चायोग को भी इस मामले को कनाडा में अमेजॉन के उच्च अधिकारियों के साथ उठाने का निर्देश दिया.