सहारनपुर हिंसा : हालात पर काबू पाने के लिए मोबाइल इंटरनेट और मैसेजिंग सर्विस पर रोक

 

यूपी के सहारनपुर में तीन हफ़्तों से चल रहे जातीय संघर्षको काबू करने के लिए मोबाइल इंटरनेट और मैसेजिंग सेवा पर रोक लगा दी गई है. जिला प्रशासन के से मिलि जानकारी के मुताबिक किसी भी तरह की नई अफवाह से बचने के लिए ये कदम उठाया गया है. इससे पहले लगातार खराब होते हालात को देखते हुए देर शाम सहारनपुर के डीएम एनपी सिंह और एसएसपी सुभाष चंद्र दुबे को सस्पेंड कर दिया गया. डिवीज़नल कमिश्नर और डीआईजी का भी तबादला कर दिया गया.

 

 

सरकार के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि एसएसपी सुभाष चंद्र दुबे और जिलाधिकारी एनपी सिंह को हटाया गया है, जबकि मंडलायुक्त एमपी अग्रवाल और पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) जेके शाही का भी तबादला कर दिया गया है. राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर के हालात को नियंत्रित नहीं कर पाने को लेकर नाराजगी जताते हुए ये कदम उठाया हैं,तीन हफ़्तों में चौथी बार हुई हिंसा के बाद इलाके में काफी तनाव के हालात बने हुए है, जिसे देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई हैं. प्रशासन के आला अधिकारी मौक़े पर नजर बनाए हुए हैं.

 

 

 

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट किया है. और सहारनपुर की घटना पर दुख जताते हुए लिखा कि "सहारनपुर की घटना दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है"  घटना के दोषी व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जा रही है. मंगलवार को मल्हीपुर रोड पर हुई हिंसा में मारे गये आशीष के परिजनों को राज्य सरकार ने 15 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है.
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *