नोटबंदी का मतलब गरीबों से खींचना और अमीरों को सींचना है – राहुल गांधी

कांग्रेस पार्टी के उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने उत्‍तर प्रदेश के जौनपुर में रैली को आज संबोधित किया. रैली को संबोधित करते समय लोगों ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नाम पर मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए तो राहुल ने उन लोगों को रोकते हुए कहा, ये कांग्रेस की मीटिंग है और यहां मुर्दाबाद का नारा नहीं लगना चाहिए. साथ ही क‍हा, कि मोदी के साथ भले ही हमारी राजनीतिक लड़ाई हो, मगर उनके खिलाफ मुर्दाबाद का नारा लगाना कट्टरपंथी, आरएसएस के लोगों का काम है, न कि कांग्रेस का.
जौनपुर की रैली में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी पर और नोटबंदी के मुद्दे पर जम कर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, कि भ्रष्‍टाचार के खिलाफ किसी भी कदम पर हम सरकार का साथ देंगे, मगर 8 नवंबर को लिया गया फैसला भ्रष्टाचार के खिलाफ नहीं, ये फैसला किसान और गरीब के खिलाफ है. राहुल गांधी ने मोदी पर हमला जारी रखा और कहा, कि 'मोदी हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कहते थे, मगर नोटबंदी के फैसले की घोषणा कर के मुरादाबाद, कानपुर और मिर्जापुर की स्‍थानीय खूबियों से संबंधित उद्योगों को खत्‍म कर दिया है. यहां के लोग समान क्रेडिट कार्ड से नहीं खरीदते बल्कि कैश से खरीदते हैं. मोदी जी ने ऐसे लोगों को बर्बाद कर दिया है.'
उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि, 'मैंने मोदी जी के सामाने किसानों का कर्जा माफ करने का मसला उठाया, मगर पीएम इस पर एक भी शब्‍द नहीं बोले. प्रधानमंत्री ने मनरेगा का मजाक उड़ाया. मोदी जी, एक तरफ देश के 99 प्रतिशत लोगों का मजाक उड़ाते हैं और वहीं दूसरी तरफ 50 परिवार हैं. राहुल ने कहा, कि 'देश के 50 परिवारों के पास सबसे ज्‍यादा धन है. सारा कैश काला धन नहीं है, सारा काला धन कैश में नहीं है.'
राहुल ने कहा कि लोग कह रहे हैं कि नरेन्‍द्र मोदी ने हमें बेवकूफ बना दिया है. 8 नवंबर के बाद माल्‍या को 1200 करोड़ की टॉफी दी. माल्या और ललित मोदी को भारत से भगा दिया गया. नोटबंदी से कालीन और चमड़े का व्यापार खत्म हुआ है. नोटबंदी पर राहुल गांधी ने पीएम पर हमला बोलते हुए कहा, कि कुछ लोग कहते हैं कि आइडिया अच्छा था, मगर प्लानिंग खराब थी, लेकिन मैं कहता है कि प्लानिंग सही थी, अगर आप समझें तो. मोदी जी का बैंको में गरीबों का पैसा फंसाने का प्लान था. नोटंबदी की योजना गरीबों से खींचना और अमीरों को सींचना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *