कानपुर रेल हादसा : ट्रैक को उड़ाने के लिए प्रेशर कूकर बम का हुआ इस्तेमाल : पुलिस

यूपी के कानपुर में  नवंबर 2016 में हुई रेल दुर्घटना के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें से एक आरोपी ने ये कबूल लिया है कि ट्रैक पर ब्लास्ट के कारण दुर्घटना हुई है. इस हादसे के पीछे पाकिस्तानी खूफिया एजेंसी ISI के हाथ होने की शंका जताई जा रही है. ATS {आंतकरोधी दस्ते} ने गुरुवार को बताया कि एक आरोपी मोतीलाल पासवान ने कबूल किया है कि एक 10 लीटर के प्रेशर कूकर को IED यानि एक विस्फोटक डिवाइस के रूप में तैयार किया गया था. 20 नवंबर को हादसे के बाद प्रशासन को इस बात का शक पहले से ही था कि यह सब ट्रैक में हुई गड़बड़ी की वजह से हुआ है.

 

इस हफ्ते मुकेश यादव, उमा शंकर पटेल और मोती पासवान को बिहार के ईस्ट चंपारन जिले से हत्या के मामले में गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने बताया कि पूछताछ के दौरान इन तीनों ने ये स्वीकार किया कि ISI के कहने पर इन्होंने भारतीय रेलवे को निशाना बनाया. एटीएस ने यह भी बताया कि मोतीलाल पासवान ने एक और दावा किया है कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर 28 दिसंबर को कानपुर देहात में भी एक और दुर्घटना को अंजाम दिया था. अब एटीएस एक बार फिर दुर्घटनास्थल फोरेंसिक जांच करेंगी.
 

आपको बता दें कि पिछले साल नवंबर में इंदौर-पटना एक्सप्रेस कानपुर से 100 किमो दूर ट्रैक से उतर गई थी जिसमें 150 लोग मारे गए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *