राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अभिभाषण में कहा, ‘कालेधन पर नोटबंदी बड़ा फैसला’: पढ़े मुख्य अंश

संसद का बजट सत्र आज से शुरू हो गया है. सत्र की शुरुआत सुबह 11 बजे राष्ट्रपति के अभिभाषण से हुई. संसद भवन के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी दोनों सदनों को एक साथ संबोधित कर रहे हैं.

राष्ट्रपति अपने भाषण में सरकार की नीतियों और उपलब्धियों का लेखाजोखा बता रहे हैं.

  • राष्ट्रपति ने कहा, सरकार का लक्ष्‍य है, ‘सबका साथ, सबका विकास’
  • 11 हज़ार गांवों में बिजली पहुंचाई गई
  • जनशक्ति के लिए सरकार को सलाम
  • खरीफ की पैदावार में 6 फीसदी की बढ़ोत्‍तरी
  • 13 करोड़ गरीबों को मिली है, सामाजिक सुरक्षा
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से किसान को फायदा हुआ है और किसान से रिस्‍क घटा
  • सरकार की योजना से दाल की कीमत घटी
  • सरकार का नारी शक्ति का लक्ष्य
  • रोजगार बढ़ाने के लिए 6 हजार करोड़ रूपये का बजट
  • पहली बार 3 महिला लड़ाकू पायलट बनी
  • 1 करोड़ को PMKVY के तहत ट्रेनिंग का लक्ष्‍य
  • UNI नंबर से कर्मचारियों को फायदा
  • स्क्लि डेवलपमेंट के तहत कई प्रोग्राम शुरू किए गए
  • दिव्‍यांगों को बराबर दर्ज देने का लक्ष्‍य
  • 6 लाख दिव्‍यांगों को नौकरी देने का लक्ष्‍य
  • 2022 तक सबको अपना - अपना घर देने का लक्ष्‍य
  • दिव्‍यांगों के आरक्षण को बढ़ाकर 4 फीसदी किया
  • गरीबों को अच्‍छी शिक्षा और स्‍वास्‍थ्य देने पर जोर
  • अरूणाचल-मेघालय रेल लाइन से जुड़ेंगे
  • सभी गांव सड़कों से जुड़ेंगे
  • राष्ट्रपति ने कहा, ‘8 नबंवर को हमारी सरकार ने विमुद्रीकरण का साहसिक फैसला लिया, कालेधन के खिलाफ जंग में यह एक बड़ा फैसला था’
  • 40 साल से हमारा देश आतंक से जूझ रहा है
  • सितंबर 2016 में हमारी सरकार ने सफलता पूर्वक सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देकर सीमाओं पर आतंक के खिलाफ कड़ा कदम उठाया
  • सेना के शौर्य पर हमें गर्व है और मेरी सरकार ने OROP की लंबे वक्‍त से चली आ रही मांग को पूरा किया है
  • राष्‍टपति ने कहा, ‘मेरी सरकार में नौकरियों में नियुक्तियों को पारदर्शिता बनाया गया है, साथ ही  नीलामी और आवंटन प्रकियाओं में भी पारदर्शिता लाई गई

आप को बता दें, इस बार के बजट में ऐसा पहली बार होगा जब अभिभाषण के बाद सरकार एक आर्थिक सर्वे पेश करने वाली है. आर्थिक सर्वे को देश की अर्थव्यवस्था की वर्तमान स्थिति और आने वाले बजट का आईना माना जाता है. इस साल के बदलावों में एक बदलाव एक बड़ा बदलाव ये भी है कि इस बार अलग से रेल बजट पेश करने की परंपरा खत्म की जा रही है. रेलवे से जुड़े प्रावधान आम बजट में ही शामिल होंगे. नोटबंदी के फैसले के बाद और आने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर इस बजट सत्र को बेहद अहम माना जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *