आर्मी चीफ ने कहा कि सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करने वाले जवानों को मिल सकती है सजा

सेना दिवस के मौके पर आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने सोशल मीडिया पर जवानों के वायरल वीडियो के बारे मे बोलते हुए कहा है कि हाल ही में हमारे कुछ जवान सोशल मीडिया के जरिए अपनी शिकायतें ज़ाहिर कर रहे हैं, इसका असर सेना के वीर जवानों पर पड़ता है.

यदि आपको कोई शिकायत है, तो सीधे मुझसे संपर्क कर सकते हैं. उन्‍होंने सोशल मीडिया के जरिये शिकायत करने वाले जवानों को दो टूक शब्दों में कहा कि 'उन्‍होंने जो किया है उसके लिए उन्हें सजा भी हो सकती हैं'. उन्‍होंने कहा कि हमें मालूम है कि हमारे प्रतिद्वंदी हमारी ताकत से परिचित हैं. हमारी क्षमता किसी भी समय किसी भी जगह कार्रवाई करने की है. हम चाहते हैं कि दोस्ती का हाथ दोनों ओर से बढ़े , लेकिन शांति भंग करने वालों को चेतावनी भी देना चाहते हैं.

आर्मी चीफ ने कहा कि भारत चीन की सीमा पर भी शांति चाहता है. चीन की सीमा पर हमारी तरफ से कारगर कॉन्फिडेंस बिल्डिंग मेज़र्स अपनाए गये हैं. हम हर उस कदम को उठा रहे हैं, जिससे एलएसी पर पैदा होने वाली हर स्थिति का शांतिपूर्ण समाधान निकाला जा सके.

सेना प्रमुख रावत ने कहा कि हम चाहते हैं कि एलओसी पर शांति बरकरार रहे, लेकिन हम किसी भी प्रकार के सीज़फायर उल्लंघन या हमारे देश की सुरक्षा के खिलाफ उठने वाले हर कदम का मुंहतोड़ जवाब देने से पीछे नहीं हटेंगे. भावी चुनौतियों से निपटने के लिए हमें हमेशा तैयार रहना होगा. उन्होंने कहा कि कुछ समूह हिंसा का सहारा ले रहे हैं. ऐसे विरोधी समूहों के खिलाफ ऑपरेशन चलते रहेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *