ग्रेटर नोएडा में नाइजीरियाई छात्रों पर हमला, विदेश मंत्री ने की CM योगी आदित्यनाथ से की बात

2 दिन पहले ग्रेटर नोएडा में पहले ड्रग ओवरडोज़ से छात्र की मौत के मामले में नाइजीरियाई छात्रों पर हमला हुआ है. हालात बिगड़ने पर पुलिस ने छात्रो पर लाठीचार्ज किया जिसमें कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. लाठी चार्ज होने की वजह से प्रदर्शन कर रहे लोगों में भगदड़ मच गई थी. इस घटना में तीन नाइजीरियाई छात्र घायल हुए हैं. पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में लेते मे हुए कहा कि बाकि लोगो पर में लिया है और कुछ लोगों के खिलाफ वीडियो फुटेज के आधार पर कार्रवाई की जाएगी. लोगों ने आरोप लगाया है कि 25 मार्च को नोएडा के एनएसजी सोसायटी में रहने वाले एक छात्र की ड्रग ओवरडोज़ से मौत हुई. इसके लिए नाईजीरियाई नागरिकों को ज़िम्मेदार ठहराया गया. इनके खिलाफ स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन भी किया.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नोएडा में अफ्रीकी छात्रों पर हुए कथित हमले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से बात की. मुख्यमंत्री ने सुषमा स्वराज को इस मामले में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच करवाने का आश्वासन दिया.

हज़ारों की तादाद में लोगों ने इकट्ठा होकर परी चौक पर कैंडल मार्च निकाला, जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने वहां से गुजर रहे नाइजीरियाई छात्रों पर हमला बोल दिया. स्थिति बिगड़ने पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया जिसमें कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. लाठीचार्ज होने की वजह से प्रदर्शन कर रहे लोगों में भगदड़ मच गई. इस घटना में तीन नाइजीरियाई छात्र घायल हो गए.

जाने क्या है पूरा मामला
25 मार्च: 12वीं का छात्र मनीष खारी लापता.
26 मार्च: झाड़ी में मिला शरीर, अस्पताल ले जाने पर डाक्टरों ने मृत घोषित किया.
डॉक्टरों ने ड्रग्स ओवरडोज़ को बताया मौत की वजह.
नाइजीरियाई लोगों पर इलाक़े का माहौल ख़राब करने का आरोप.
27 मार्च: SSP दफ़्तर पर स्थानीय लोगों ने किया प्रदर्शन.
27 मार्च: मौत के विरोध में परी चौक पर स्थानीय लोगो ने निकाला कैंडल मार्च,
कैंडल मार्च के दौरान पुलिस को करना पड़ा हल्का लाठीचार्ज, इसके बाद
परी चौक से गुज़र रहे 3 नाइजीरियाई पर हमलाहिंसा में शामिल 54 लोगों की पहचान की गई.
6-7 स्थानीय लोग गिरफ़्तार किए गए किसी नाइजीरियाई की गिरफ़्तारी नहीं .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *