सात राज्‍यों के सात रंगों में रंगा हैं मकर संक्रांति का त्‍योहार ; पढ़ें

Pongalहमारा भारत देश दुनियाभर में त्‍योहार के लिए भी जानना जाता है, यहां साल भर में कई त्‍योहार मनाए जाते है. हमारे देश में एक ऐसा त्‍योहार है, जिसे एक दिन ही में एक वजह के लिए अलग-अलग नामों और तरीकों से मनाया जाता है. वो है ‘मकर संक्रांति’.

मकर संक्रांति देश का ऐसा त्योहार है, जो हर साल एक ही तारीख पर मनाया जाता है. इस त्‍योहार पर आप को सात राज्‍यों में आस्था और श्रद्धा के सात रंग दिखने को मिल जाएंगें. आइए जानें सात राज्‍यों के सात रंगों के बारे में.

गुजरात

गुजरात में मकर संक्रांति को ‘उत्तरायण’ नाम से मनाया जाता है. इस दिन पारंपरिक पूजा और मिष्ठान तो बनाते है, मगर सबसे ज्‍यादा धूम होती है पतंगबाजी की. आज के दिन गुजरात में ऐसी पंतगबाजी देखने को मिलती है, जो दुनिया में कहीं नहीं मिल सकती.

Uttrayanउत्‍तर प्रदेश

उत्‍तर प्रदेश में इस त्‍योहार को ‘खिचड़ी’ कहा जाता हैं. आज के दिन हर घर में बाजरे की खिचड़ी बनाई जाती है. मकर संक्रांति के साथ ही इलाहाबाद में विश्व प्रसिद्ध माघ मेला शुरू हो जाता है और वो मेला महाशिवरात्रि तक चलता है. इसी दौरान डुबकी लगाने का भी प्रचलन है.

HARIWARपंजाब

पंजाब राज्‍य में मकर संक्रांति को ‘लोहाड़ी या माघी’ के रूप में मनाते है. फसलों की कटाई होने की खुशी में यह त्‍योहार मनाया जाता है. इस दौरान पूरा पंजाब ढोल की थाप पर नाचता है.

Punjabमहाराष्ट्र

महाराष्‍ट्र में इस त्‍योहार को ‘हल्दी-कुमकुम’ के नाम से जाना जाता है. आज के दिन सभी विवाहित मराठी स्त्रियां हल्दी-कुमकुम लेकर एक-दूसरे के घर जाती हैं और तिलक कर सद्भावना का संदेश देती हैं, साथ ही गुड़ और तिल के लड्डू भी बांटे जाते हैं और गुड़ और तिल बांटते वक्‍त कहा जाता है,  ‘तिळगुळ घ्या आणि गोडगोड बोला’ मतलब ‘तिल-गुड़ खाओ और मीठा-मीठा बोलो’.

Haldi-Kumkumतमिलनाडु

तमिलनाडु में मकर संक्रांति को ‘पोंगल’ के तौर पर मनाया जाता है और यह त्‍योहार चार दिन तक चलता है. पहले दो दिन सूर्य देव और धरती मां की पूजा होती है, तीसरे दिन पशुओं की पूजा की जाती है और चौथे दिन महिलाएं घर में भाइयों की संपन्नता के लिए पूजा करती हैं.

Pongal

असम

इस राज्‍य में ‘माघ बीहू’ के नाम से यह त्‍योहार मनाया जाता है. बाकि राज्यों की तरह असम में भी यह त्योहार फसल की कटाई से ही जुड़ा हुआ है. इस त्‍योहार पर यहां के लोग एक हफ्ते का उपवास रखते हैं और मेलों में जानवरों की लड़ाई होती है, साथ ही कई तरह के आयोजन रखे जाते हैं.

Bihuकर्नाटक

कर्नाटक राज्‍य में भी मकर संक्रां‍ति को बहुत धूम-धाम से मनाते है. उडुपी में इस मौके पर तीन रथ उत्सव का आयोजन किया जाता है और मंदिरों के साथ शहर की सजावट भी देखने वाली होती है.

Udipi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *