15 दिन के लिए टला जाट आंदोलन, सरकार से बातचीत के बाद जाट नेताओं ने लिया फैसला

सोमवार से शुरु होने वाला जाट आंदोलन फिलहाल 15 दिन के लिए टाल दिया गया है. हरियाणा सरकार से बातचीत के बाद जाट नेताओं ने यह फैसला लिया है. रविवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और जाट नेताओं के बीच एक बैठक हुई थी जिसके बाद यह फैसला लिया गया है. इस बैठक में हरियाणा के सीएम खट्टर के साथ  केंद्रीय कैबिनेट मंत्री बिरेंद्र सिंह भी मौजूद थे.

सोमवार को जाट आंदोलन शुरू होने वाला था जिसके मद्देनज़र जाटों को दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने के लिए दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश और राजस्थान में धारा 144 लागू की गयी थी और शांति बनाए रखने के लिए करीब 24,700 अर्धसैन्य बल के कर्मियों को तैनात किया गया था. दिल्ली में मेट्रो और सड़क परिवहन सेवा के कुछ हिस्से भी इससे प्रभावित होने वाले थे और कई स्कूलों के बंद होने की भी खबर आई थी. हालांकि जाट आंदोलन आगे टल जाने के फैसले के बाद प्रशासन की ओर से इस खबर को लिखने तक परिवहन और स्कूल-कॉलेज से जुड़ी कोई नई जानकारी नहीं दी गई है.

आपको बता दें कि अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) श्रेणी के अन्तर्गत शिक्षा और सरकारी नौकरियों में आरक्षण की मांग के अलावा जाट पिछले साल के आंदोलन के दौरान जेल में बंद लोगों को रिहा करने, प्रदर्शन के दौरान दायर किये गये मामलों को वापस लेने और इस दौरान मारे गये और घायल हुए लोगों के परिजनों को नौकरी देने की मांग कर रहे हैं. पिछले वर्ष जाट आंदोलन के दौरान हुई हिंसा में हरियाणा के कई स्थानों पर 30 लोग मारे गए थे और करोड़ों रुपये की संपत्ति को नुकसान पहुंचा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *