भारत ने पाकिस्तान को दो टूक कहा , ” ऐसे घृणित और अमानवीय कार्य सभ्यता के मानकों से परे हैं “

भारत ने पाकिस्तान उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब किया,अब्दुल बासित ने भारत के फौरन सेक्रेटरी से मुकालात की है, खबरों के मुताबिक ये बातचीत हाल ही में भारत के जवानो के साथ हुई बर्बरता को लेकर की गयी है,जानकारों का मानना  हैं कि भारत कि तरफ से अपना विरोध जताने का ये एक तरीका हैं,भारत की ओर से कहा गया कि रोज़ा नाला तक ख़ून के निशान दिखते हैं. यह साफ सबूत है कि हत्यारे इस पार आए और लौटे. बट्टल चौकी से पाकिस्तानी सेना ने फायरिंग की. यह फायरिंग हमले को कवर देने के लिए की गई. इस घृणित कृत्य के लिए जिम्मेदार सैनिकों और कमांडरों पर कार्रवाई हो. जवानों के शवों से बर्बरता पर देशभर में गुस्सा है.भारत के पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि पाकिस्तान सेना ने नियंत्रण रेखा को पार करके इस काम को अंजाम दिया.ये पाकिस्तान की उकसाने वाली कार्रवाई है

भारत के महानिदेशक सैन्य आपरेशन (डीजीएमओ) लेफ्टिनेंट जनरल ए के भट ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष को भी बताया है कि ऐसे घृणित और अमानवीय कार्य सभ्यता के मानकों से परे हैं और इसकी कड़े शब्दों में निंदा की जानी चाहिए.

आपको बता दें कि पाकिस्तान ने कृष्णा घाटी सेक्टर में युद्धविराम का उल्लंघन किया और फायरिंग की आड़ में भारतीय जवानों की पेट्रोलिंग टीम के दो जवानों की हत्या कर दी थी. सेना ने बताया है कि इन दोनों भारतीय जवानों के शवों के साथ पाक सेना ने बर्बरता की है. सेना की उत्तरी कमान की प्रेस रिलीज के मुताबिक-पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम जिसे बैट कहा जाता है उसने इस कायरता पूर्ण वारदात को अंजाम दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *