बीएसएफ जवान ने सोशल मीडिया पर जारी किया वीडियो, लगाए गंभीर आरोप, गृहमंत्री ने दिए जांच के आदेश

जम्मू-कश्मीर के पूंछ सेक्टर में तैनात बीएसएफ के एक जवान का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. वीडियो में बीएसएफ जवान ने दावा किया है, कि वह सीमा पर मुश्किल हालात में ड्यूटी कर रहा है. वीडियो में दिख रहा शख्‍स खुद को तेज बहादुर यादव, बीएसएफ की 29वीं बटालियन का सदस्‍य बता रहा है.

जवान का वीडियो के जरिए देशवासियों को संदेश  : "देशवासियों मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं. हम लोग रोज सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक, लगातार 11 घंटे इस बर्फ में खड़े होकर ड्यूटी करते हैं. कितनी भी बर्फ,बारिश और तूफान हो, हम इन्‍हीं हालातों में ड्यूटी कर रहे हैं. फोटो में आपको हमारे पीछे का नजारा बहुत अच्‍छा लग रहा होगा मगर हमारी क्‍या सिचुएशन हैं, ये ना मिनिस्‍टर सुनता है न देश का मीडिया दिखाता है, कोई भी सरकार आईं, हमारे हालात वहीं हैं. मैं इस के बाद तीन वीडियो भेजूंगा जिसको मैं चाहता हूं, कि आप ये दिखाएं कि हमारे अधिकारी हमारे साथ कितना अत्‍याचार व अन्‍याय करते हैं."

जवान वीडियो में यह भी दावा करता है, "हम किसी सरकार के खिलाफ आरोप नहीं लगाना चाहते और न मेरा निशाना सरकार है. क्‍योंकि सरकार हर चीज, हर सामान हमको देती है. मगर उच्‍च अधिकारी सब बेचकर खा जाते हैं, हमें को कुछ नहीं मिलता. कई बार तो जवानों को भूखे पेट ही सोना पड़ता है. मैं आपको नाश्‍ता दिखाऊंगा जिसमें सिर्फ एक पराठा और चाय मिलता है, उसके साथ अचार भी नहीं होता. दोपहर के खाने की दाल में सिर्फ हल्‍दी और नमक होता है, रोटियां भी दिखाऊंगा. मैं फिर कहता हूं, कि भारत सरकार हमें सब मुहैया कराती है, स्‍टोर हमारे खाने के सामान से पर्याप्त हैं मगर वह सब बाजार में चला जाता है. इसकी जांच होनी चाहिए."

yadavजवान की खासा नाराजगी बड़े सैन्य अधिकारियों से है. उसने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि यहां पर जवानों को ठीक से खाना तक नसीब नहीं हो रहा है और कई बार उन्हें भूखा ही सोना पड़ता है. वहीं, वीडियो के वायरल होने के बाद केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी रिपोर्ट तलब की है.
गृहमंत्री ने इस संबंध में ट्वीट किया जिसमें कहा है, "मैंने बीएसएफ जवान की दशा का वीडियो देखा है. मैंने इस मामले में गृह सचिव को तत्काल बीएसएफ से रिपोर्ट तलब करने और उचित कार्रवाई करने के लिए कहा है."

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *