गोवा विधानसभा चुनाव : त्रिशंकु विधानसभा बनने के आसार

गोवा के चुनाव परिणाम के अनुसार राज्‍य में त्रिशंकु विधानसभा की उम्‍मीद है. अभी तक घोषित नतीजों में कांग्रेस को 18 सीटें मिल चुकी हैं जबकि बीजेपी को 14 सीटें मिली हैं. 40 में से 39 सीटों के परिणाम घोषित हो चुके हैं और इस तरह कोई भी दल अकेले आधी सीटें भी नहीं जीत रहा. ऐसे में वहां किसकी सरकार होगी यह देखना दिलचस्‍प होगा क्‍योंकि छोटे दल अब इसमें महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.

क्षेत्रीय पार्टियों गोवा फॉरवर्ड और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी ने तीन तीन सीटें जीती हैं. राकांपा की एक सीट है, तीन सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है.

भाजपा ने पिछले विधानसभा चुनाव में 21 सीटें जीती थीं जब वह 2012 में सत्ता में आयी थी. भाजपा को तगड़ा झटका लगा है क्योंकि राज्य के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर मांद्रे सीट से चुनाव हार गए. उनके कैबिनेट सहयोगियों दयानंद मांद्रेकर (शियोली) और दिलीप परूलेकर (सालगाव) भी चुनाव हार गए. प्रमुख कांग्रेस विजेताओं में पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत भी शामिल हैं. तटवर्ती राज्य गोवा के चुनावी मुकाबले में पहली बार उतरने वाली आप कोई सीट नहीं जीत पायी.

आरएसएस के बागी सुभाष वेलिंगर का गोवा सुरक्षा मंच, शिवसेना को भी कोई सफलता नहीं मिली लेकिन उनकी गठबंधन सहयोगी महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी को तीन सीटें मिलीं. महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी चार फरवरी के चुनाव से ठीक पहले भाजपा से अलग हो गई थी और तीन पार्टियों के साथ गठबंधन बना लिया था.

देश  के सबसे छोटे राज्यों में शुमार गोवा में एग्जिट कोल के मुताबिक किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिल रहा है. हालांकि बीजेपी बड़ी पार्टी बनकर उभर रही है. तस्वीर कुछ ही घंटों में साफ होगी. बीजेपी को सरकार बनाने के लिए फिर भी कुछ सीटें कम पड़ सकती है.  राज्य में मतगणना को लेकर पूरी तैयारी की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *