EVM Tempering Challenge : सिर्फ एनसीपी और माकपा लेंगे हिस्‍सा,आप और कांग्रेस का हिस्सा लेने से इनकार

चुनाव आयोग की ओर से तीन जून को आयोजित ईवीएम हैकिंग चुनौती में सिर्फ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और माकपा  भाग लेने जा रही हैं. वहीं, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का कहना है कि वह इसमें भाग नहीं लेंगे... दोनों पार्टियों ने आयोग से नियम बदलने की मांग की है.

 

भारतीय जनता पार्टी एवं  दो वामपंथी दलों और राष्‍ट्रीय लोकदल ने कहा है कि वे 3 जून को सुबह 10 बजे से दो बजे के बीच निर्धारित हैकथोन का निरीक्षण करना चाहते हैं. आपको बता दें कि ईवीएम मशीन चुनौती में हिस्सा लेने के लिए सभी राजनीतिक दलों द्वारा अपने प्रतिनिधियों को नामांकित करने के लिए शुक्रवार आखिरी दिन था. लेकिन इस पर जवाब केवल आठ दलों ने ही दिया है.

 

 

कांग्रेस ने चुनाव आयोग से इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन में छेड़छाड़ करने संबंधी चुनौती के जो नियम बनाए हैं, उनमें से कुछ में बदलाव करने की मांग पर विचार करने को कहा, ताकि लोगों के भीतर से इससे संबंधित सारी आशंकाओं को दूर किया जा सके. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मुख्य चुनाव आयुक्त एवं अन्य चुनाव आयुक्तों को एक पत्र लिखकर ये मांग की. उन्होंने ईवीएम में छेड़छाड़ की. लोगों को चुनौती देने की चुनाव आयेाग की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि यह चुनौती निष्पक्ष, पारदर्शी और स्पष्ट होनी चाहिए.

 

 

बात अगर आम आदमी पार्टी की करें तो गोपाल राय ने कहा है कि "यह हैक करने का कार्यक्रम नहीं है. इस नाटक में हिस्सा क्यों लेना?" उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी मौजूदा संदर्भ में ईवीएम हैक करने की चुनौती को स्वीकार नहीं करेगी.

 

 

 

आप का यह फैसला चुनाव आयोग द्वारा उसकी यह मांग खारिज करने के संदर्भ में आया है, जिसमें उसने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन हैक करने के नियमों पर पुनर्विचार करने और उसे चुनौती देने के दौरान ईवीएम के मदरबोर्ड के साथ छेड़छाड़ करने की इजाजत देने की मांग की थी.

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *