चक्रवाती तूफान ‘वरदा’ से 10 की मौत, आम जन-जीवन प्रभावित

तमिलनाडु को सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाले चक्रवाती तूफान 'वरदा' के कारण , कई घर तबाह हो गए, टेलीफोन लाइनें टूट गईं और रेल, सड़क तथा वायु यातायात अवरद्ध हो गए है. तिरवल्लुर, चेन्नई और कांचीपुरम में भारी बारिश और तेज हवाओं का जोर रहा. लगभग 16000 लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है,सौ किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से बह रहीं हवाओं से भारी संख्या में पेड़ गिर गए, और कारें भी पलट गईं. तटीय इलाकों में रहने वाले हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.चेन्नई में यातायात सेवाओं पर भी असर पडा है, सार्वजनिक परिवहन ठप हो गया. बसें और ट्रेनें भी रुकी रहीं और हवाईअड्डे को भी बंद कर दिया गया. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक रेल, सड़क और हवाई यातायात कल तक बहाल होने की संभावना है. चेन्नई, तिरवल्लुर और कांचीपुरम जिलों में आज ज्यादातर व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे.

एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवानों को बचाव अभियान के लिए तैनात किया गया है वहीं सेना को तैयार रहने को कहा गया है. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने राजधानी मे जानकारी दी हे कि तमिलनाडु में चक्रवाती तूफान में दस लोग मार गए है, वहीं एनडीआरएफ के छह और एसडीआरएफ के चार दल बचाव के प्रयासों में लगे हैं.तूफान से अभी तक किसी बड़े नुकसान की फिलहाल कोई खबर नहीं है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *