Year Ender

Delhi's iconic Taj Mahal Hotel, popularly known as Taj Mansingh, currently run by the Tatas, must be auctioned, the Supreme Court said today. However, the Tata group will have to be given six months to vacate if its bid in the online auction is not the winning offer, said the court.

The Tatas had been given a 33-year lease for the property in one of the most central parts of the capital. The contract ended in 2011. The conglomerate's hotel division was given nine extensions after that. Last month, officials at a meeting headed by Chief Minister Arvind Kejriwal concluded that the hotel would be auctioned.

That decision came after the agency that controls the land - the New Delhi Municipal Council - was taken to court by the Tatas who fought the proposal for a new lease based on bids at market rental prices, claiming that the civic agency gets considerable revenue through the current arrangement.

A top-heavy Gujarat Lions would look to better their first season’s accomplishment and aim for a winning start against two-time champions Kolkata Knight Riders in an IPL [Indian Premier League] game on Friday. Gujarat were the table-toppers at the end of the league stage in the last Indian Premier League [season-9], but finished third after defeats in the two Qualifiers versus Royal Challengers Bangalore[RCB] and Sunrisers Hyderabad[SRH]. But this time around, the Suresh Raina team would look to go one step up in only their second season of the IPL.

नईदिल्ली: बीते वर्ष में कई जानीमानी हस्तियां हमें हमेशा के लिए अलविदा कह गईं आइए एक नजर में पढ़ते हैं, उन हस्तियों के बारे में जो अब हमारे बीच नही हैं.

एबी वर्धन
दो जनवरी को लंबी बीमारी के बाद एबी वर्धन का  निधन हो गया. उनका पूरा नाम अध्रेंदू भूषण वर्धन था. एबी वर्धन गठबंधन की राजनीति के समय भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का नेतृत्व करने वाले वरिष्ठ नेता थे.

मुफ्ती मोहम्मद सईद
अच्छी खासी मुस्लिम आबादी वाले राज्य में भाजपा के साथ लगभग असंभव समझे जाने वाली गठबंधन सरकार बनाने का शिल्पकार माने जाने वाले जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद का संक्षिप्त बीमारी के बाद 7 जनवरी को निधन हो गया. एक गूढ़ वकील से लेकर देश के अब तक के एकमात्र मुस्लिम गृहमंत्री बनने तक का सफर तय करने वाले सईद ने एक मंझे हुए राजनीतिक खिलाड़ी की तरह राष्ट्रीय राजनीति मे खासतौर पर जम्मू-कश्मीर की राजनीति में अपने लिए एक अलग मुकाम बनाया था.

जे जयललिता
तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता का पांच दिसंबर को निधन हो गया. जे जयललिता तीन दशकों से तमिलनाडु की राजनीति का एक केन्द्र रहीं और गरीबों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू करने वाली लोकप्रिय नेता रही, इसी साल विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी अन्नाद्रमुक को शानदार जीत दिलाई थी.

निदा फाजली                                                                               अपनी गजलों से लोगों के दिलों में जगह बनाने वाले मशहूर शायर और गीतकार निदा फाजली का 78 वर्ष की उम्र में आठ फरवरी को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. निदा फाजली नाम काफी लोकप्रिय हुए इनका पूरा नाम मुकतिदा हसन निदा फाजली था. उन्हें कई पुरस्कारों से नवाजा गया, साहित्य अकादमी पुरस्कार और पद्म श्री इनंमे से मुख्य है. फाजली को उर्दू और हिंदी में गजलों, नज्मों और दोहों को आम बोलचाल की भाषा के अलग तरह से इस्तेमाल और खूबसूरती से उन्हें पेश करने के लिए जाना जाता है.

एसएच रजा
आधुनिक भारतीय कलाकार एसएच रजा का 23 जुलाई को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. वे 94 वर्ष के थे एसएच रजा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध ख्याति प्राप्त कलाकार थे और उनको पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया था. वह 1983 में ललित कला अकादमी के फैलो निर्वाचित हुए थे.

रवींद्र कालिया
एक सशक्त कहानीकार के रूप में पहचाने जाने वाले, हिन्दी के बड़ॆ कहानीकार एवं कई साहित्यिक पत्रिकाओं के संपादक रह चुके रवींद्र कालिया का 9 जनवरी को 78 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. उनकी ‘नौ साल छोटी पत्नी’ कहानी काफी चर्चित हुई, उनकी आत्मकथा रूपी रचना ‘गालिब छूटी शराब’ भी काफी सराही गई. कालिया धर्मयुग सहित कई पत्र-पत्रिकाओं से उनका जुडाव रहा

बलराम जाखड़
तीन फरवरी को कांग्रेस के वरिष्ट नेता एवं पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बलराम जाखड़ का निधन हो गया. वह 92 वर्ष के थे. जाखड़ 1980 से लेकर 1989 तक लोकसभा के अध्यक्ष रहे. इस दौरान उन्होंने संसद संग्रहालय की स्थापना में योगदान दिया.

सुधीर तैलंग                                                                                6 फरवरी को 55 साल की उम्र में भारतीय राजनीति को हास्य-व्यंग्य के साथ खूबसूरती से कागज पर चित्रित करने वाले जानेमाने कार्टूनिस्ट सुधीर तैलंग का निधन हो गया.सुधीर तैलंग द इंडियन एक्सप्रेस, हिंदुस्तान टाइम्स, द टाइम्स ऑफ इंडिया समेत कई अखबारों में काम कर चुके थे, तैलंग को 2004 में पद्म श्री सम्मान से नवाजा गया था. कार्टूनिस्ट के तौर पर उन्होंने इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, अटल बिहारी वाजपेयी, पी वी नरसिंहराव, मनमोहन सिंह और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई राजनेताओं पर व्यंग्य-चित्र बनाए,जो काफी लोकप्रिय हुए.

पीए संगमा
पूर्वोत्तर से लोकसभा के पहले अध्यक्ष रहे पीए संगमा का चार मार्च को निधन हो गया. संगमा राजनीति में ऐसे कद के नेता माने जाते थे, जिन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के विदेशी मूल को चुनौती दी थी.

महाश्वेता देवी
प्रख्यात लेखिका और समाज के दबे कुचले और वंचित वर्गों के लिए काम करने वाली महाश्वेता देवी का 28 जुलाई को निधन हो गया. वह 91 वर्ष की थीं. साहित्य अकादमी और ज्ञानपीठ पुरस्कारों से सम्मानित महाश्वेता देवी ने आदिवासियों और ग्रामीण क्षेत्र के वंचितों के कल्याण के लिए अथक प्रयास और कार्य किए थे.

फिदेल कास्त्रो
क्यूबा जैसे छोटे से देश को शक्तिशाली पूंजीवादी अमेरिका के पैर का कांटा बनाने वाले क्रांतिकारी एवं कम्युनिस्ट नेता फिदेल कास्त्रो का 26 नवंबर को निधन हो गया. जैतून के रंग की वर्दी, बेतरतीब दाढ़ी और सिगार पीने अपने अलग अंदाज के लिए मशहूर फिदेल ने अपने देश में पैदा होने वाले असहमति के सुरों पर कड़ा शिकंजा बनाए रखा और वाशिंगटन की मर्जी के खिलाफ चलकर वैश्विक स्तर पर अपनी एक नई पहचान बनाई.

अनुपम मिश्र                                                                                 प्रख्यात पर्यावरणविद् और जल संरक्षणवादी अनुपम मिश्र ने भी साल 2016 में इस संसार को अलविदा कह दिया.अनुपम मिश्र एक जीवंत शक्सियत हैं, वे पहले ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने देश में पर्यावरण पर काम करना शुरू किया था और वो भी उस समय जब सरकार में पर्यावरण का कोई विभाग तक नहीं था. उन्होंने गांधी शांति प्रतिष्ठान में पर्यावरण कक्ष की स्थापना भी की. अनुपम मिश्र, जयप्रकाश नारायण के साथ दस्यु उन्मूलन आंदोलन में भी सक्रिय रहे.

साल 2016 हिन्‍दी फिल्‍म जगत के लिए काफी अच्‍छा रहा, कई बड़ी फिल्‍में बड़े पर्दे पर रिलीज हुई, कई फिल्‍मों ने अच्‍छा प्रदर्शन किया तो कई उम्‍मीद पर खरी नहीं उतर पाई. कई बड़ी फिल्‍मों ने धमाकेदार कमाई भी की. साल 2016 खत्‍म होने को है, तो आइए जानते है, इस साल की वो फिल्‍में जिन्‍होंने आप का सबसे ज्‍यादा मनोरंजन किया और सबसे ज्‍यादा कमाई की.
बॉलीवुड के सुपरस्‍टार सलमान खान की फिल्म 'सुल्तान' इस साल की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर हिट फिल्‍म रही है. फिल्‍म 'सुल्तान' ने घरेलू बॉक्स ऑफिस पर कुल 300.45 करोड़ रुपए की कमाई की है.

दूसरे नंबर पर टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान 'महेन्द्र सिंह धोनी' के जीवन पर बनी फिल्‍म 'एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी' रही है. इस फिल्‍म ने कुल 132.85 करोड़ रुपए की कमाई की है. इस फिल्‍म में धोनी का किरदार अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने निभाया था.

Image Courtesy: Twitter
Image Courtesy: Twitter

22 जनवरी को बड़े पर्दे पर रिलीज हुई अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म 'एयरलिफ्ट' ने ब्लॉकबस्टर की टॉप 3 सुपर हिट फिल्मों में जगह बना ली है. इस फिल्‍म ने 129 करोड़ रुपए कमाए है.

Image Courtesy: Twitter
Image Courtesy: Twitter

इसी साल अक्षय कुमार की एक और बड़ी फिल्‍म बड़े पर्दे पर रिलीज हुई, फिल्‍म 'रुस्तम'. रूस्‍तम टॉप-4 में शामिल हुई है, इस ने 127.13 करोड़ रुपए की कमाई की है.

Image Courtesy: Twitter
Image Courtesy: Twitter

अक्षय कुमार की इस साल तीसरी फिल्‍म 'हाउसफुल-3 ' रिलीज हुई जिसने 107.7 करोड़ रुपए की कमाई की और इस ने टॉप 5 में जगह बनाई है.

अगर देखा जाए, अक्षय कुमार के लिए साल 2016 शानदार साबित हुआ. अक्षय की तीनों फिल्‍मों ने टॉप 5 फिल्‍मों में अपनी जगह बना ली है.

अपने अंत के करीब पहुंच चुके साल 2016 में भारत ने कई ऐतिहासिक ऐसे कार्य किए,आइए इन बिन्दुओँ मेंपढ़ें,ये उपलब्धियां

जापान के साथ असैन्य परमाणु करार हुआ और परमाणु क्षति पूरक मुआवजा संधि को भी अनुमोदित कर दिया गया. 11 नवंबर को भारत और जापान ने असैन्य परमाणु ऊर्जा को लेकर एक ऐतिहासिक करार पर हस्ताक्षर किए. इस करार से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय आर्थिक और सुरक्षा संबंधों में गति लाने और जापानी कंपनियों को भारत में परमाणु संयंत्र लगाने में सहायता मिलेगी.

इस साल दो अक्तूबर को महात्मा गांधी की 147वीं जयंती के मौके पर ऐतिहासिक पेरिस जलवायु समझौते पर हस्ताक्षर कर दिये. संयुक्त राष्ट्र सभा के महासचिव बान की मून ने भारत के‘‘जलवायु नेतृत्व’’ की प्रशंसा करते हुए भारतवर्ष को धन्यवाद कहा.

इसी साल 21 जून को संयुक्त राष्ट्र सचिवालय की इमारत के बाहर 135 राष्ट्रों के     लोग अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए जुटे. भारत इसी साल मिसाइल           प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था का सदस्य भी बन गया.

भारत ने इस साल दिसंबर में परमाणु क्षमता से युक्त बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-पांच का सफल परीक्षण किया जिसकी पहुंच चीन तक होगी. इस कामयाब परीक्षण से सबसे ताकतवर भारतीय मिसाइल के प्रायोगिक परीक्षण और अंतिम तौर पर इसे स्पेशल फोर्सेस कमांड में शामिल करने का रास्ता भी साफ भी हो गया.

22 जून को भारत ने  अंतरिक्ष जगत में नया कीर्तिमान स्थापित करते हुए एक ही   मिशन के दौरान 17 विदेशी और एक पृथ्वी अवलोकन उपग्रह समेत 20 उपग्रहों का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के ध्रुवीय उपग्रह (पीएसलएवी-सी34) ने श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से उड़ान भरी और नयी पीढ़ी के पृथ्वी अवलोकन उपग्रह (काटरेसैट-2 सीरीज) और 19 अन्य उपग्रहों को ‘सन सिंक्रोनस ऑर्बिट’ कक्षा में स्थापित कर दिया.

इसी साल उत्तर प्रदेश के उन्नाव में देश के 302 किलोमीटर लम्बे , छह लेन वाले एक्सप्रेस-वे ने काम करना शुरू कर दिया. सामरिक दृष्टिकोण के लिहाज से महत्वपूर्ण इस एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के दौरान भारतीय वायुसेना के सुखोई समेत अत्याधुनिक विमानों ने इस सड़क से उड़ान भरी. वायुसेना के विमानों के लिये उपयुक्त यह एक्सप्रेस-वे जरूरत पड़ने पर हवाई पट्टी के तौर पर भी काम करेगा.

चीन और पाकिस्तान द्वारा एनएसजी में भारत की सदस्यता को लेकर विरोध जताये जाने की बात पर अमेरिका ने भारत का पक्षे लेते हुए इसी साल कहा कि भारत मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण कानून की अनिवार्यताओं को पूरा करता है और विशिष्ट क्लब में प्रवेश लेने के लिए तैयार है.

New Year sounds exciting because we can look for something new in the upcoming year. But as students, we see some things around us that can’t let us experience this excitement. Let us have a look what exactly is needed to let us celebrate the New Year:

Free Mind: As youngsters, we have realised where our society actually lacks. What we need is a free culture which looks at the conversation between a boy and a girl with an open mind. On one hand we have something known as gender equality and on the other we have a taboo associated with co-ed hostels. It is true that women need to work in safe surroundings but this doesn’t mean that such a surrounding exists where the two stands poles apart. There can be alternatives which need to be realised.

Why Boards: The topic of Boards for class 10th has been quite controversial this year. CBSE Central Board of Secondary Education (CBSE) and the Human Resource Development (HRD) have been thinking over to bring back Board Exams for Class 10. These have its benefits of course but why bother students who are busy preparing for competitive exams and for admission in a good stream for higher studies.

Obsession with Attendance:  We all know that attendance has been an obsession of the education system. But since every individual has a different story so how can one judge all on one single scale. Attendance carries good weightage in the final score and those who are otherwise good in academics but are unable to attend school/college regularly face unpleasant consequences. Something like attendance can operate the final results of a student and might bring good results for non deserving candidate.

Interesting Canteen: Canteen might be a simple place for somebody to go and quench his/her hunger but for students it is the point to relax and have some fun. So Canteen plays a major role in student’s life. Why not make it look interesting with some unique food items in the menu than those old ‘chole-poori’ dishes or oily ‘chole-bathoore’. It is not the case that fast-food attracts us but the unique taste that can help us taking a break from ‘ghar ka khana’.

Facade of importance of marks: It is not only students who complain about the facade of importance of exams but even teachers disapprove the criteria followed by Education System for admissions. This is high time for Education System to revise the syllabus as well as criterion of admissions. Can a mark sheet really decide the future of a person? Unfortunately it does in India.

The list cannot end here but these are some simple things that really matter. What do you say? Tell us in the comments section below.

1) Team India played 12 unbeatable test in 2016 under the captaincy of Virat Kohli , winning series against England , New Zealand and West Indies .

2) Virat Kohli became the first Indian captain to score two double centuries in tests .

3) The Delhi batsman scored four tons in Indian Premier League 2016 .

4) He  became the fastest cricketer  to score 7000 runs in One Day International .

5) He achieved his 24th century becoming the fastest to touch this milestone .

6) The Royal Challengers batsman scored 1215 runs in 12 tests this year .

7) Former Indian skipper Sunil Gavaskar said that Mr. Virat Kohli comes from an 'Another Planet ' .

8) He scored three double - centuries in this year which come against West Indies ( 200 ) , New Zealand ( 211) , and England ( 235 ) .

9) He was selected as captain for ICC ODI team of this year .

10) He was also elected as Captain of Australia's ODI team of the Year

The world's most expensive signing in football held this year with France wizard Midfielder Paul Pogba returning to his former club Manchester United . Where he spent one season ( 2011 - 12 ) under the legendary coach Sir Alex Ferguson . He left Manchester United in 2012 .

1) Paul Pogba - Juventus to Manchester United , 89 million pounds ( 105 million euros , $ 116 million )

2 ) Gonzalo Higuain - Napoli to Juventus , 90 million Euros ( $ 98 . 8 m ) .

Seria - A champion Juventus signed Argentina striker Gonzalo Higuain from Napoli this year .

3 ) John Stones - Everton to Manchester City , 47 . 5 million pounds ( $ 61 million )

Pep side Manchester City signed Everton defender John Stones this year with a BPL record fee .

4 ) Hulk - Zenit St . Petersburg to Shanghai SIPG , £ 46 . 1 m

Brazilian striker Hulk signed Chinese league team Shanghai SIPG in june from Zenit St . Petersburg . He spent four seasons in Russia .

5 ) Sadio Mane - Southampton to Liverpool , £ 36 m

Jurgen Kloop team Liverpool signed Senegal striker Sadio Mane from Southampton . Sadio Mane had a brilliant season with Southampton , He was also in good touch with Liverpool this season .

6 ) Granit Xhaka - Borussia Monchengladbach to Arsenal , £ 34 m

The Gunners signed Granit Xhaka from German side Borussia Monchengladbach . It was Arsenal 's first signing of this season . The Swiss Midfielder played brilliantly in Euro Cup 2016 which was held in France .

7 ) Leroy Sane - Schalke to Manchester City , 37 million pounds ( $ 48 million )

Manchester City signed Schalke versatile winger Leroy Sane this year . The German international had a great season with Schalke .

8 ) Michy Batshuayi - Marseille to Chelsea , £ 33 .2

The blue side Chelsea signed Belgian striker Michy Batshuayi this year . Now Antonio side have 1 more striker with Diego Costa .

9 ) Mats Hummels - Borussia Dortmund to Bayern Munich , £ 31.5

German centre back Mats Hummels signed Borussia Dortmund arch - rivals Bayern Munich .

10 ) David Luiz - Paris Saint German to Chelsea , 34 million pounds

After spending two seasons with French club  Paris Saint German David Luiz returns to his former club Chelsea this year . 

1) T20 series against Australia : India whitewashed the series by 3 -0 .

After a frustrating ODI series against Australia , Mahi and his company came back strongly and clinched T20 series against the Aussies . Team India won the T20 series by 3 -0 . India lost four ODIs back to back , But  India won the last ODI with the help of Manish Pandey made  ODI century . 

2) T20 series against Sri Lanka : India won 2 - 1

Earlier in this year, Sri Lanka Cricket team came to India for played three match T20 series . The visitors won the first T20 match against India by 5 wickets in Pune . As a reply, The blue army won the rest  two matches and won the T20 series , winning by 69 and 9 wickets at Ranchi and Vishakapatnam ( Vizag ) . 

3) T20 series against Zimbabwe : India won 2 - 1

Captain Mahendra Singh Dhoni flying to Zimbabwe with amateur line up in June this year.  The senior players rested in this series like Virat Kohli , Rohit Sharma , Shikar Dhawan , Ajinkya Rahane , Ravindra Jadeja and Ravichandran Ashwin . Young guns like KL Rahul , Manish Pandey Ambati Raydu , Kedar Jhadav and Dhawal Kulkarni got the opportunity to prove their skills and calliber. 

नई दिल्‍ली/इस्लामाबाद : भारत-पाकिस्तान संबंधों के लिए वर्ष 2016 सबसे खराब साल साबित हुआ ।पाकिस्तान के आतंकी समूहों द्वारा लगातार आतंकी हमलों को अंजाम देने से दोनों देशों के बीच चल रही शांति प्रक्रिया ठप पड़ गई ,

भारत-पाकिस्तान संबंधों के दृष्टिकोण से इस साल की शुरुआत ही काफी खराब रही

दो जनवरी को पाकिस्तान के आतंकी समूह ‘जैश ए मोहम्मद’ के आतंकियों ने पंजाब स्थित पठानकोट वायुसेना बेस पर हमला कर सात सुरक्षाकर्मियों की हत्या कर दी। भारत ने इस विषय पर पाक को घेरने की कोशिश की पाकिस्तान से जवाब मांगा आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. पठानकोट हमला द्विपक्षीय संबंधों के लिए घातक साबित हुआ,क्योंकि हमले से कुछ ही दिन पहले, पिछले साल 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात करने लाहौर जा पहुंचे थे।

  • हालात तब और खराब हो गए जबभारतीय सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर ‘बुरहान वानी’ को मार गिराया गया,हाफिस सईद ने इस हमले का बदला लेने का ऐलान पहले ही कर दिया था
  • सितंबर में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने उरी में सेना के शिविर पर हमला किया जिसमें 19 भारतीय सैनिक शहीद हो गए, इसके कुछ ही दिन बाद संयुक्त राष्ट्र महा सभा के सालाना सत्र में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर आतंकवाद फैलाने और मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाया। संयुक्त राष्ट्र महासभामें कश्मीर मुद्दा उठाते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुरहान वानी को ‘युवा नेता’ बताया और कहा कि पाकिस्तान ‘कश्मीरी जनता के आत्मनिर्धारण की मांग का पूरा समर्थन करता है।महासभा में भारत ने पहली बार बलूचिस्तान में ‘सरकार की ओर से किए जा रहे बदतरीन दमन’ के लिए पाकिस्तान की निंदा की।
  • भारत ने 29 सितंबर को नियंत्रण रेखा के पार पीओके यानी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सात आतंकी ठिकानों पर हमला किया. इऩ हमलों के बाद नियंत्रण रेखा पर युद्ध जैसे हालात बन गए। दोनों देशो ने एक दूसरे पर ‘बिना उकसावे की गोलीबारीका आरोप लगाते हुए एक दूसरे के राजदूत को कई बार तलब किया।
  • दिल्ली पुलिस पाकिस्तानी उच्चायोग के एक कर्मचारी को भारत-पाक सीमा पर अनेक संवेदनशील दस्तावेजों के साथ रंगे हाथों पकड़ा वहीं से एक नए राजनयिक विवाद की शुरुआत हुई पाकिस्तान ने भी भारतीय उच्चायोग के एक कर्मचारी को ‘अवांछित’ करार देते हुए 48 घंटों के भीतर देश छोड़ने का आदेश दिया।
  • पाकिस्तान ने नवंबर माह में भारत उच्चायोग में तैनात अपने छह अधिकारियों को वापस अपने देश बुला लिया। जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किए गए उच्चायोग के कर्मचारी ने बताया कि चार वरिष्ठ राजनयिकों समेत ये छह अधिकारी जासूसी में शामिल थे। वे सभी पाकिस्तान लौट गए। इसके बाद पाकिस्तान ने दावा किया कि भारतीय उच्चायोग के अधिकारी ‘बलूचिस्तान और सिंध खासकर कराची में आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने, और चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे को नुकसान पहुंचाने और दोनों प्रांतों के मध्य तनाव लाने में शामिल हैं।’ पाकिस्तान की चोरी फिर पकड़ी गई जब अजीज ने स्वीकार किया कि कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव के खिलाफ सरकार के पास मौजूद सबूत ‘अपर्याप्त’ हैं।
  • साल खत्म होने का था पर संबंधों में तनाव खत्म न होकर बढ़ता गया, नवंबर माह के अंत में जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में एक सैन्य शिविर पर फिर आतंकी हमला हुआ जिसमें सात सैनिकों की मौत हो गई।
  • इसके बाद दोनों देशों के मध्य तनाव का कारण बना सिंधु नदी जल समझौता । जम्मू-कश्मीर में जलविद्युत परियोजनाओं और किशनगंगा परियोजनाओं को लेकर पाकिस्तान की शिकायत के चलते विश्व बैंक के निष्पक्ष विशेषज्ञ नियुक्त करने और मध्यस्थता अदालत के गठन के फैसले पर भारत ने विरोध जताया । इसके बाद दिसंबर में विश्व बैंक ने सिंधु नदी जल समझौते के तहत भारत और पाकिस्तान द्वारा शुरू की गई भिन्न प्रक्रियाएं रोक दी ताकि अपने मतभेदों व तनाव को दूर करने के लिए वैकल्पिक तरीकों पर विचार कर सकें।
  • हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन के आयोजन स्थल अमृतसर में पाकिस्तान ने सरताज अजीज को भेजा। पाकिस्तान की सैन्य कमान में बदलाव का ये एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम था ।अंतरराष्ट्रीय सम्‍मेलन-हार्ट ऑफ़ एशिया में भारत, आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने में कामयाब रहा. दो दिन के सम्‍मेलन में शिरकत करने आए पाकिस्तान सरकार के विदेश मामलों के सलाहकार को अफग़ानिस्तान के राष्ट्रपति के हाथों शर्मसार होना पड़ा. भारत ने भी उन्हें कोई ख़ास तवज्जो नहीं दी.लाहौर से बमुश्किल 30 किलोमीटर दूर सरहद के बेहद करीब आयोजित इस सम्‍मेलन में भारत ने पाकिस्तान पर कूटनीतिक हमला बोला. उसी के विदेश मामलों के सलाहकार की मौजूदगी में पड़ोसी मुल्क को कश्मीर में अस्थिरता फैलाने से बाज़ आने की सख्त चेतावनी दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर वहां के हुक़्मरानों को खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि'आतंकवाद के बढ़ते पंजे से पूरे क्षेत्र को खतरा है. इसके लिए ठोस कदम उठाने होंगे. ये कदम सिर्फ आतंकवादियों के खिलाफ नहीं बल्कि उन्हें शरण देने वालों और फंड मुहैया कराने वालों के भी खिलाफ होने चाहिए.'