विपक्ष की आपत्ति पर चुनाव आयोग ने कैबिनेट सचिव की राय मांगी

5 राज्यों के चुनावों से ठीक पहले बजट की तारीख पर विपक्ष की आपत्ति के बाद चुनाव आयोग ने इस बारे में सरकार से जवाब मांगा है. कैबिनेट सचिव को चिट्ठी लिखकर इस मुद्दे पर उनकी टिप्पणी मांगी है ये अनुमान लगाया जा रहा हैं कि कैबिनेट सचिव की राय के बाद चुनाव आयोग इस मुद्दे पर कोई निर्णय ले सकता है. आपको बता दें कि चुनाव आयोग के सूत्रों का कहना है कि चुनाव आयोग को सरकार के वैधानिक काम में दखल देने की इजाजत नही है, वह केवल सरकार को अपनी बात के लिए राजी कर सकता है.

गौरतलब है कि भारत के पांच राज्यों में होने वाले चुनावों की तारीखों की घोषणा के ठीक एक दिन बाद विपक्षी पार्टियों ने एकजुट होकर चुनाव आयोग और राष्ट्रपति का दरवाज़ा खटखटाया था. इसकी वजह रही बजट पेश करने की तारीख यानि 1 फरवरी जो कि चुनाव से ठीक पहले की है. विपक्षी पार्टियों का कहना है कि यह तारीख आगे बढ़ा दी जाए. चुनाव आयोग से मिलने वाले दल में तृणमूल, कांग्रेस, जनता दल युनाइटेड,  समाजवादी पार्टी, बसपा, और लालू यादव की पार्टी आरजेडी के नेता शामिल थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *