लालू, चिदंबरम के ठिकानों पर छापेमारी : अब हिसाब चुकाने का समय आ गया है : वित्त मंत्री अरुण जेटली

केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस के वरिष्ट नेता पी चिदंबरम तथा उनके बेटे के घरों के साथ राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद से जुड़ी संपत्तियों के में पडी रेड के बारे मे बोलते हुए सरकारी एजेंसियों का पक्ष लिया. जेटली ने मंगलवार को 50 से ज्यादा ठिकानों पर की गई कार्रवाई के पक्ष में बोलते हुए कहा कि अब हिसाब देने का समय आ गया है. जिसने जो जो गड़बड़ी की है, अब उसका उन्हें जवाब देना ही होगा. जेटली ने कहा कि हमको यंहा ये बात ध्यान में रखनी होगी कि इनकम टैक्स विभाग या सीबीआई तब तक कार्रवाई नहीं करता जब तक कि उसका कोई ठोस आधार और संदेह का ठोस कारण नहीं होता.

 

 

मीडिया से बात करते हुए वित्त मंत्री कहा, "अब शासन में बैठे लोग बेनामी कंपनियों के जरिये संपत्ति खरीद रहे हैं, यह कोई मामूली बात नहीं है, लेकिन बहुतों के लिये हिसाब देने का समय आ गया है, उनको जवाब देना ही होगा. आपको बता दें कि " अरुण जेटली विपक्ष के इस अरोप के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे कि सरकार उसके (विपक्ष के) खिलाफ सीबीआई तथा इनकम टैक्स विभाग का दुरपयोग कर रही है.

 

 

इसके अलावा उन्होनें क कहा कि, "जब तक कर चोरी हो या अपराध के मामले के शक का कोई ठोस आधार या कारण नहीं होता है, या इन जाँच एजेंसियो के पास कोई पुख्ता सबूत नही होते तब तक ये लोग कार्रवाई नहीं करते. क्योंकि अंतत: जो भी कार्रवाई की जाती है, उसका कुछ न कुछ परिणाम जरूर होता है.

 

 

 

 

 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि " सीबीआई ने आईएनएक्स मीडिया प्राइवेट लि. की हिस्सेदारी विदेशी इकाइयों को बेचने के लिये 2007 में मंजूरी दिए जाने में कथित रूप से हुए आपराधिक कदाचार के संबंध में पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम तथा उनके बेटे कार्ती के घरों की तलाशी ली. इसके अलावा आयकर विभाग ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद और अन्य से जुड़े 1,000 करोड़ रुपये के कथित बेनामी सौदों के आरोप में दिल्ली और आसपास के कम-से-कम 22 ठिकानों पर छापे मारे और तलाशी ली.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *