तमिलनाडु की ‘अम्‍मा’ का फिल्‍मों से राजनीति तक का सफर

जयललिता ने 140 फिल्में में काम किया है, आठ बार विधानसभा का चुनाव लड़ा और एक बार राज्यसभा के लिए मनोनीत होने के अलावा वह पांच बार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनी।
मुख्यमंत्री जयललिता लंबे समय से बिमार चल रही थी, जिस के बाद सोमवार देर रात उन्‍हें अंतिम सांस ली। चेन्नई के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। रविवार शाम उन्‍हें दिल का दौरा पड़ा था, जिसके बाद से उन की सेहत नाजुक बताई जा रही थी। AIADMK की प्रमुख जयललिता ने परिस्थितियों से जूझते हुए मुख्‍यमंत्री का मुकाम हासिल किया था।

Read this also: http://www.dailyaddaa.com/news/jayalalithaa-and-karan-thapar-interviews/

आइए जाने उनके सफर के बारे मेः-

तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री और AIADMK की प्रमुख जयललिता का जन्म 24 फरवरी 1948 को मैसूर में मांडया ज़िले के मेलुरकोट गांव में हुआ था। जयललिता के पिता जी जयराम का जब निधन हुआ, उस वक्‍त वह केवल दो साल की थीं।

पिता के निधन के बाद उनकी मां उन्‍हें बंगलौर ले गई, जहां उन्‍हें तमिल फिल्‍मों में काम करना शुरू किया। जयललिता ने अपना नाम भी बदल लिया और संध्‍या रख लिया। उन्‍होनें शुरू में तमिल फिल्‍मों में अभिनय किया, मगर फिर तमिल के अलावा तेलुगू, कन्नड, एक हिंदी फिल्‍म और एक अँग्रेजी फिल्म में भी काम किया। जया मात्र 15 साल की उम्र में ही कन्नड फिल्मों में मुख्‍य अभिनेत्री का किरदार निभाने लगी थी। जयललिता दक्षिण भारत की पहली एक ऐसी अभिनेत्री थीं, जिस ने स्कर्ट पहनकर फिल्मों में अपने किरदार निभाए। वर्ष 1965 से वर्ष 1972 के बीच उन्होंने ज्‍यादा फिल्में एमजी रामचंद्रन के साथ की थी।

जय‍ललिता ने अपने फिल्मी करियर के बाद एमजी रामचंद्रन के साथ ही वर्ष 1982 में राजनीतिक करियर की शुरुआत की। शुरूआत में वर्ष 1984 से 1989 के दौरान तमिलनाडु से राज्यसभा के लिए राज्य का प्रतिनिधित्व किया, फिर वर्ष 1987 में एमजी रामचंद्रन का निधन के बाद जयललिता ने खुद को एमजी रामचंद्रन की विरासत का उत्तराधिकारी घोषित कर दिया था। जयललिता 24 जून 1991 को तमिलनाडु राज्य की पहली निर्वाचित मुख्‍यमंत्री और राज्य की सबसे कम उम्र की मुख्यमंत्री बनीं साल 1991 से साल 1996 तक उन्‍होने मुख्‍यमंत्री का पद संभाला। साल 2011 में जब जयललिता ने 11 दलों के गठबंधन ने 14वीं राज्य विधानसभा में बहुमत हासिल किया तो वे तीसरी बार मुख्यमंत्री बनीं थी।

तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री को राजनीति में उनके समर्थक उन्‍होने अम्मा और कभी कभी पुरातची तलाईवी (क्रांतिकारी नेता) कहकर बुलाते थे। वह तमिलनाडु से लगातार पांच बार मुख्यमंत्री रही। मुख्‍यमंत्री जयललिता को तमिलनाडु राज्य की दूसरी महिला मुख्‍यमंत्री बनने का सौभाग्य प्राप्त है।

Read this also: http://www.dailyaddaa.com/news/jayalalithaa-tamilnadu-beloved-amma-pass-away/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *