कपिल की मां ने अरविंद केजरीवाल को लिखा भावुक खत : पढ़े

दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री और विधायक कपिल मिश्रा बुधवार से भूख हड़ताल पर पर बैठ गए हैं. आज उनकी भूख हड़ताल का तीसरा दिन है. मीडिया से बात करते हुए मिश्र ने कहा कि अरविंद केजरीवाल सवालों का जवाब देने के बजाय तीन पर्दों में छिपने की कोशिश कर रहे हैं. ये तीन बहाने बना रहे हैं कि मैं बीजेपी का एजेंट हूं, मैं कुमार विश्वास के साथ हूं, मैंने पहले क्यूं नहीं किया.

मां का पत्र अरविंद जी को:- 

प्रिय अरविंद,

यह पहला और आखिरी पत्र लिख रही हूं तुम्हे।

मेरा बेटा तुम्हारे से सवाल पूछेगा और तुम सवालों से बचोगे ऐसा कभी नहीं सोचा था.

जब जब तुम मुझसे मिले हो तुमने हमेशा सार्वजनिक जीवन मे पारदर्शिता की बात की. हर चीज को जनता के सामने रखने की बात की.

आज मेरे बेटे पर BJP का एजेंट होने का आरोप लगा रहे हो, सोशल मीडिया में झूठी तस्वीरें तुम्हारे सबसे करीबी साथी फैला रहे हैं.

कल शाम को AAP के ज्यादातर वरिष्ठ नेताओं ने सोशल मीडिया पर जो तस्वीर फैलाई उस कार्यक्रम में तो तुम भी थे. तुम्हारी सारी कैबिनेट थी. कुमार विश्वास के पिताजी के सम्मान में वो कार्यक्रम था.

कितना झूठ अरविंद, आखिर कितना??

याद है जब तुम मेरे घर आए थे कि कपिल को पार्टी में लेना चाहता हूं, चुनाव लड़वाना है कपिल मान नहीं रहा. वो केवल आंदोलन करना चाहता था, तब तुम आए थे मेरे पास कि कपिल की जरूरत है.

आज तुम्हारे लोग मुझे भी भ्रष्टाचारी कह रहे हैं. तुम चुप हो. दिल्ली की सबसे पहली मोहल्ला सभा मैंने लगाई थी. 2007 में. तुम भी तो आए थे उस मोहल्ला सभा में, तुम्हारे सारे साथी आए थे. तब तो कोई आंदोलन या पार्टी का नामों निशान नहीं था. कपिल उस मोहल्ला सभा को संचालित कर रहा था.

तुम्हारी अपनी किताब स्वराज में तुमने मेरे काम करने के तरीकों को लिखा हैं. आज कहां से कहां आ गए हो तुम. मुझे तुमने ही बताया था कि जब AAP के 28 विधायक जीत कर आये तो सबसे पहले उन्हें कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में मेरी ही मोहल्ला सभा की VIDEO दिखाई गई.

अरविंद, तुमने कपिल के साथ काम तो किया है पर शायद उसे पहचाना नहीं. वो बहुत जिद्दी है. तीन दिन से कुछ नहीं खाया उसने. मुझे गर्व है कि मैंने ऐसे बेटे को जन्म दिया.

एक मां होने के नाते बस इतना कहना चाहती हूं कि छोटी सी जानकारी उसने मांगी है वो दे दो. वो किसी का एजेंट नही केवल सच का एजेंट है. ये झूठ तुम्हारे किसी काम नहीं आएंगे, भगवान से डरना सीखों.

आशीर्वाद और स्नेह

डॉ अन्नपूर्णा मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *