ISIS ठिकाने पर अमेरिका ने गिराया सबसे बड़ा बम-36 आतंकी मरे, जाने खास बातें

अमेरिका ने गुरुवार शाम को अफगानिस्‍तान में अब तक का सबसे बड़ा गैर एटमी बम गिराया है, उसमें अफगान अधिकारियों के मुताबिक 36 ISIS आतंकी मारे गए हैं.

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता सीन स्पाइसर ने कहा कि हमने ISIS के आतंकियों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे सुरंगों और खोहों को निशाना बनाया. इस बात का पूरा ध्यान रखा गया कि इससे आम नागरिकों और उनकी संपत्तियों को कोई नुकसान न पहुंचे. स्पाइसर ने कहा कि ISIS के खिलाफ लड़ाई को अमेरिका बेहद गंभीरता से ले रहा है. अफगानिस्तान में अमेरिकी और विदेशी सुरक्षा बलों के प्रमुख जनरल जॉन निकोलसन ने कहा कि इस बम का इस्तेमाल ISIS के लड़ाकों के खिलाफ हुआ, जो सुरंगों को अपना ठिकाना बनाए रहते हैं, इस मामले में ताजा अपडेट ये हैं कि अमेरिका का कहना है कि ये सब अफगान सरकार के साथ बातचीत के बाद ही किया गया है, ताकि किसी निर्दोष की जान ना जाए.

यहां पढ़ें इस बम के बारे में खास बातें :-

  • GBU-43 अमेरिका का सबसे बड़ा बम इसे 'सभी बमों की जननी' भी कहा              जाता है.
  • यह अमेरिका का सबसे बड़ा गैर परमाणु बम है.
  • जीपीएस गाइडेड यह बम जमीन से ठीक पहले फटता है और इसका दायरा            काफी बड़ा होता है.
  • अंडरग्राउंड टारगेट को नष्ट करना सबसे बड़ी खासियत होती है.
  • मार्च 2003 में इराक युद्ध से ठीक पहले इसका टेस्ट किया गया.
  • इस GBU-43 बम का वजन 21,600 पाउंड (9,797 किग्रा) है.
  • इसकी कीमत लगभग 16 मिलयन डॉलर है.
  • इसका पहली बार परीक्षण मार्च 2003 में इराक युद्ध शुरू होने से कुछ दिन            पहले ही किया गया था.
  • इसमें 11 टन विस्फोटक पदार्थ आता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *